Share Bazar की जानकारी. शेयर मार्किट से जुडी जरुरी जानकारी जो हर Investor के लिए फायदेमंद है.

Last updated on January 6th, 2018 at 02:16 pm

प्रिय पाठक, स्वागत है आपका आज की Share Bazar क्या है? Stock Market के बारे मे जानकारी की पोस्ट पर. मन में सिखने की इच्छा और उसके बारे मे ज्यादा जानकारी लेना तथा उस जानकारी को Analyse करने के आदत अगर दिल में होगी तो कोई भी Business किसी भी आदमी के लिए Impossible नहीं है. फिर वह किसी भी चीज की Trading हो या ज्यादा पैसो का फायदा दिलानेवाला, हर समय Income Source पैदा करने वाला Share Bazar ही क्यों ना हो.Share Bazar Information in Hindi.

दुर्भाग्य से Share Bazar याने Speculative Market, Gambling, Iligel Business, पैसे डूबेंगे वगैरा इज्जत से किया जाने वाला धंदा नहीं है जैसे कई गलतफहमिया पिछली पीढ़ीद्वारा फैलाया गया है. वैसे देखा जाए तो उनका यह दोष नही है मध्यम वर्ग की आर्थिक असुरक्षा का कारण इसके पीछे का मुख्य कारण है. आम आदमी के पास अमिर आदमी की तरह Property नही होती है. उनके पास होता है उतनी ही थोडीसी प्रॉपर्टी वह संभालके रखते है जिसका नुकसान होने का डर सताता है.

> Read – Share Market क्या है? शेयर बाजार के बारे बेहद काम की जानकारी

हम रोज के जीवन मे Share Bazar, Securities and Exchange Board of India (SEBI), Sensex, Mutual Funds, Securities, Debentures इनके बारे मे पढ़ते रहते है, देखते रहते है लेकिन उनपर ज्यादा गौर नही करते है की आखिर Share Market मे यह सब होता क्या है? आज के आर्टिकल मे आप यह सब जानकारी जान सकते है.

कभी कभी NewsPaper मे हम पढ़ते है की आज Share Bazar गिर गया है और कभी तो यह भी पढ़ते या देखते है की Share Market ने उछाल प्राप्त की है. Share Trading करने वालो के लिए शेयर बाजार गिरना हो या उछाल पाना हो दोनोही समय मे फायदेमंद होता है. क्योकि अगर शेयर मार्किट मे गिरता है है तो वह और भी अधिक Shares खरीदते है और अगर उछाल आती है तो उन्हीको ज्यादा कीमत पर बेचकर पैसा कमाते है.

Share Bazar Invest के फायदे.

Investment करना आज के युग की बेहद Important Matter बन चूका है. इन्वेस्टमेंट करना किनता जरुरी होता है यह किसी को भी अलग से समजाने के जरुरत है एसा हमें नही लगता. निवेश यह भविष्य की परिस्थितियों के लिए संकट के समय मे बेहद फायदेमंद होती है. बढ़ती महंगाई और Limited Income होने की वजह से Saving करना बेहद मुश्किल हो रहा है.

फिर भी Saving Importance को कोई भी नकार नहीं सकता. हम आपको निश्चित रूप से कहते है की निवेश से संबंधित सभी सूचनाएं, ज्ञान, Investing science और Investing Art हम आपको इस पोस्ट मे समजानेका प्रयास करेंगे. ज्ञान ही एक शक्ति है, पैसे को सोच समजकर ही इन्वेस्ट करना चाहिए तभी इसकी सही ताकद समज सकती है.

 बहुतसे Investor के मन मे सवाल आता है की उनके पास का पैसे कहा इस्तेमाल करे? वह कैसे इन्वेस्ट करे? इसके लिए बेहद सारे ऑप्शन उपलब्ध है इनके बारे मे पूरी जानकारी और रिसर्च करके ही बिच-बिच मे Investment करनी चाहिए. Share Bazar Mutual Fund, Commodity Market, Real Estate, Unit Linked Insurance Policy, Exchange Trended Funds इन जैसे के बिच Step By Step Investment करने से भविष्य मे इसका लाभ लाभदायक हो सकता है.

आपके सामने Investment के लिए कई सारे तरीके पढ़े हुए है. उनमे से सही जो रास्ता होगा वही आपको चुनना है. अगर Share Bazar मे हो रही उछाल और ढलान को पचा सकते है तभी आप Shares ख़रीदे. हमने ऊपर भी कहा है की चाहे Share Market Down जाये या फिर शेयर बाजार मे उछाल हो दोनोही फायदेमंद साबित हो सकते है.

इसीलिए बिच मे चलने वाले उतार चढाव से ना डरे. अगर आपको आपके इन्वेस्टमेंट पर Fix Rate Income चाहिए तो Assured income देनेवाले मार्किट मे इन्वेस्टमेंट करनेपर फायदा होगा. लेकिन ध्यान रहे जहा पैसो का जोखिम ज्यादा होता है वही फायदा भी अधिक होता है. Stock Market Investment मे शेयर्स से तीन तरह के फायदे होते है जो निचे दिए गये है.

  • Shares.

किसी भी कंपनी के Shares Buy करना मतलब उस कंपनी के भागीदार होने जैसा ही होता है. शेयर्स Demat Account Open करके आप इन्हें खरीद सकते है. Primary Market याने Initial Public Offer इनके द्वारा Secondary Market से Share खरीद सकते है. इसमें एक शेयर्स बेचता है और दूसरा उन्हें खरीदता है.

इस तरह के सभी व्यवहार Recognized Stock Exchange के जरिये ही कर सकते है. जैसे की Bombay Stock Exchange (BSE), National Stock Exchange (NSE) और यह सही भी है. शेयर्स की मदत से 20 से 50% का फायदा मिलता है जैसे २ लाख के अच्छे कंपनी के Shares होने से 60 से 80 हजार का फायदा सालाना हो सकता है. लेकिन क्या आप जानते है इनसे तीन प्रकार के फायदे हो सकते है जो निचे दिए गए है.

1. Dividend.

Company को होनेवाले Net profits से कुछ अमाउंट डिविडेंड के रूप मे Shareholder को चुकाई जाती है. मिलने वाला Dividend यह कितना भी क्यों ना हो वह शेयरहोल्डर के हाथ मे Income Tax Free होता है.

2. Price Increase. 

Market Sensex बढ़ने से Shares बेचने चाहिए जिसमे से थोड़ी सी Amount Service Tax, Service Charges और Brokerage के रूप मे 6% काट के बाकी बची Amount Demat Account मे कुछ तीसरे दिन तक ज़मा कर दी जाती है.

3. Bonus Shares.

कंपनी की Financial Condition अच्छी होने पर Company एक को एक या एक को दो के प्रमाण मे Shares Issue करते है जिसके लिए कुछ भी फायदा नही मिलता है.

> Read – Daily Free Recharge कैसे करते है? इन्टरनेट द्वारा मोबाइल से अनलिमिटेड रिचार्ज पाने का तरीका. Indian Share Market aur share bazar information

Share Bazar क्या है?

Share Bazar का मतलब कंपनी और छोटे बड़े Investor के बिच आने वाला दुवा होता है. भारत मे Bombay Stock Exchange और National Stock Exchange यह दो मुख्य Share Markets है. इन दोनों शेयर बाजारों मे ८००० से भी ज्यादा कंपनिया लिस्टेड है. इन दोनों को Shares खरीदना और बेचने की जिम्मेदारी को निभाने की जिम्मेदारी होती है.

स्टॉक एक्सचेंज की वजह से शेयर्स खरीदने के लिए Seller Company ढूंडने की जरुरत नहीं पढती है तथा Buying Company भी सर्च करने की जरुरत नहीं होती है. Computer और Internet की मदत से खरीदने और बेचने का Business २ से ३ मिनट मे पूरा कर सकते है.

सभी को पता होना चाहिए की Share Bazar का मतलब ही Stock Exchange होता है और जहा ऊपर दिया गया काम होता है वाही शेयर बाजार कहलाता है. भारत मे शेयर मार्किट की शुरुवात 1875 की गयी थी. शुरुवात मे स्टॉक एक्सचेंज को NativeShare and Stock Brocker’s Association कहा जाता है.

इस समय मे इस असोसिएशन के ३१८ मेम्बेर्स थे जो समय के साथ बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) के नाम से जाना जाने लगा साथ साथ इसे Brocker Street भी कहा जाता है. क्या आप जानते है इंडिया मे 23 Share Bazar काम कर रहे है जिनमे से 15 Recognize Regional stock exchange और 3 Develop के लिए काम कर रही है जो निचे दी गयी है.

  1. National Stock Exchange (NSE),
  2. Over The Counter Exchange of India Limited (OTCEI),
  3. Inter-Connected Stock Exchange Of India Limited (ISE).

Stock क्या है?

Stocks का मतलब किसी कंपनी के शेयर्स मे आपकी भागीदारी होना. समजिए आपके पास Reliance Company के १०० Shares है तब उनके प्रमाण में आप उस कंपनी के मालिक होंगे. अगर इस समय कंपनी को फायदा होता है तो उसे Percentage मे कंपनी की तरफ से Dividend दिया जाता है.

Income Tax Act 1961 कलम 10 (34) के अनुसार लिस्टेड कंपनी की तरफ से मिलनेवाला Dividend यह Share Holder के हाथ मे १००% टैक्स फ्री दिया जाता है. इसी Stocks को Equity भी कहा जाता है.

Equity का मतलब इक्वल का एकसमान हिस्सा, उदाहरण के तौर पर Watermelon बेहद बड़ा है जो आम आदमी खरीद नही सकता, लेकिन यही तरबूज अगर छोटे छोटे टुकडो मे बेचा जाये तो स्टोल के सामने खरीदने वाले भी ज्यादा मिलने और फायदा भी अच्छा मिलेगा. उसी प्रकार से Share Bazar की भी होता है एक आम आदमी कोई कंपनी नही खरीद सकता इसीलिए उसे शेयर्स के माध्यम से कुछ टुकडो मे बाटकर बाजार मे बेचती है उसीको Equity या Share कहा जाता है.

> Read – LIC Policy Details Online कैसे चेक करे? लाइफ इन्शुरन्स इंडिया पोलिसी डिटेल्स.
> Read – Mutual Fund क्या है? म्यूच्यूअल फण्ड कैसे कार्य करता है?
> Read – Demat Account Kya है? डीमेट अकाउंट किसे कहते है?

आशा करते है Share Bazar क्या है? यह आपको पता चल चूका होगा. शेयर मार्किट की पूरी जानकारी पाने के लिए ब्लॉग को सब्सक्राइब जरुर करे क्योकि Stock Market Series के सभी आर्टिकल की जानकारी आपको पानी है. अगर आपको Online Share Market Basics Best Investment का यह आर्टिकल पसंद आया होगा तो सोशल मीडिया मे जरुर शेयर करे.

**********

Waw ! Love This Post!

If You Like This Article Please Subscribe And Share On Social Media.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *