Scholarship Aadhar Link नही है तो यह करे काम | Aadhaar Seeding Process करना सीखे.

0
56

MahaDBT Online Scholarship Application करते समय कई तरह की Problems आती हैं. इसमें एक मुख्य समस्या है Scholarship Aadhar Link नही होना. यदि Aadhaar Number जो बैंक खाते से जुडा नहीं है तो काफी Problems आते है.

Scholarship Aadhar link check kaise kare
Scholarship Aadhar link check kaise kare

क्यों होता है ऐसा? आखिर Aadhaar Seeding Process अधूरी क्यों रह जाती है? Scholarship Aadhar Link न होने पर क्या करना चाहिए? यह Article Specially Maharashtra Scholarship Problems से निपटने के लिए ही बनाया गया है.

हमने पहले भी देखा है कि Scholarship Aadhar link होने के बावजूद MahaDBT Login मे कोई आधार लिंक नहीं है यह दिखाता है. लेकिन क्या आपने इसकी पुष्टि की है कि आप जो Aadhar Seeding Process के बारे में सोच रहे हैं वह सही है?

Scholarship Aadhar Link के लिए कौन जिम्मेदार है?

यहां प्रत्येक Applicant को यह जांचने के लिए Step by step Guidelines दी गई है कि आपका आधार आपके बैंक खाते से जुड़ा हुआ है या नहीं.

इसके साथ ही, यहां यह भी बताया जाएगा कि Scholarship Aadhar Link में आवेदक, Bank और npci की क्या जिम्मेदारी है.

केवल एक चीज के आधार पर रहने से कुछ भी नहीं होगा Because आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि स्कॉलरशिप खाते से आधार नंबर लिंक करने की process पूरी हो गई है या नहीं? आइए पहले हम जांच लें कि आपका scholarship bank account number और आधार नंबर एक साथ link हुआ है या नहीं.

इससे आपको लग जायेगा की bank account number and scholarship aadhar link hai ya nahi करके.

यदि आप पाते है की आपके बैंक अकाउंट के साथ में आधार लिंक नहीं है तो scholarship aadhaar link form भरके पहले करवाले.

Aadhar card se scholarship link check करने के लिए Status देखे.

निचे दि गए जानकारी वैसे तो किसी के लिए नई नही है फिर भी जानकारी के लिए बताना जरुरी भी है. आइये सीखिए आधार से कौनसा बैंक अकाउंट लिंक है यह कैसे जाने?

आधार कार्ड की वेबसाइट पर जाए.

  • सबसे पहले तो आपको आधार की वेबसाइट https://uidai.gov.in/ पर विजिट करे.
  • अब Check Aadhaar / Bank Account Linking Status इस ऑप्शन पर क्लिक करें.
bank account aur scholarship aadhar link hai ya nahi jane
bank account aur scholarship aadhar link hai ya nahi jane
  • स्क्रीन पर दिखाए अनुसार अपना 12 अंकों का आधार नंबर दर्ज करे.
  • या फिर आप चाहे तो VID का भी चुनाव कर सकते है. इसमें 16 अंकों का Virtual ID (VID) दर्ज करे.
  • अब Captcha Code को लिखना होगा.
  • आगे Send OTP पर क्लिक करना होगा.

One Time Password Verify करे.

  • आपने आधार मे register मोबाइल नंबर एक OTP आएगा वह दर्ज करें.
  • अब Enter OTP/TOTP में आपके मोबाइल नंबर पर प्राप्त OTP लिखे.
  • आगे Submit बटन पर क्लिक करे.

इस प्रकार से यदि बैंक के नाम के साथ scholarship aadhar link bank aacount number के साथ जुड़ा हुआ है तो window के नीचे Display किया जाएगा.

scholarship aadhar link hai ya nahi kaise jane
scholarship aadhar link hai ya nahi kaise jane

विभिन्न सरकारी योजनाओं द्वारा प्रदान किए गए प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (DBT Benefits) प्राप्त करने के लिए Aadhar Seeding होने की आवश्यकता होती है जो MahaDBT योजनाओ को सही Beneficiary तक पहुचाने का काम करती है. आधार सीडिंग करने की प्रक्रिया इसी अनुसार की जाती है.

बैंक खाते से Scholarship Aadhar Linking नहीं है तो क्या करे?

बैंक ग्राहक को पहले उस बैंक शाखा का दौरा करना होगा जहा उसका बैंक अकाउंट होगा. दिए गए process अनुसार उन्हें एक सहमति प्रपत्र याने की Annexure I को अपने bank मे प्रस्तुत करना होगा.

हस्ताक्षर के आधार पर प्रदान किए गए विवरण (जो भी आवश्यक हो सकते हैं) और ग्राहक की Verification की पुष्टि करने के बाद बैंक के अधिकारी Aadhaar seeding consent form को स्वीकार करेंगे और आवेदक / ग्राहक को एक पावती भी प्रदान करेंगे.

बैंक फिर customer केआधार कार्ड नंबर को उनके बैंक के खाते से और NPCI Mapper में भी link करेगा. एक बार जब यह activities पूरी हो जाती है तो आपका स्कालरशिप का खाता, आधार संख्या NPCI mapper में दिखाई देगी.

इस तरह, यदि कोई भी आवेदक महादलित आवेदन लॉगिन में Bank Account To Scholarship Aadhar Link से संबंधित Problems का सामना करता है, तो पहले यह देख लें कि उनका आधार लिंक है या नहीं.

यदि आधार लिंक है तो यह बहुत अच्छी बात है और अगर यह नहीं है, तो आपको उपरोक्त आधार सीडिंग प्रक्रिया को पूरा करना होगा. इसके बाद भी यह समस्या आपके साथ बनी रहती है, तो पहले अपने कर्तव्य को समझें.

आवेदक को नीचे दिए गए अनुसार पहले अपना कर्तव्य पूरा करना होगा और फिर आगे बढ़ना होगा. यदि सब कुछ सही है, तो आधार सीडिंग प्रक्रिया की जिम्मेदारी बैंक पर छोड़ दें और उन्हें अपने कर्तव्य से अवगत कराएं.

बैंक खाता धारक की भूमिका.

सुविधा के अनुसार Physically ये फिर Electronic form में पूर्ण विवरण के साथ Consent form को जमा करें जो उन्हें उनके बैंक द्वारा प्रदान किया गया होगा.

आधार कार्ड नंबर को एक बैंक से दूसरे बैंक मे bank account open करते समय यह प्रदान करना चाहिए. उस बैंक का नाम, जहां से आधार को स्थानांतरित किया जा रहा है बताना चाहिए.

physical form के मामले में, Consent form को बैंक रिकॉर्ड के अनुसार duly signed होना चाहिए. बोने का काम पूरा होने के बाद ग्राहक अपने Gas service provider (Oil Marketing Company) से संपर्क कर सकते हैं pending subsidy amount के लिए.

सब्सिडी ग्राहक न मिलने पर संबंधित OMC’s को उनके टोल फ्री नंबर 1800 2333 555 के माध्यम से संपर्क करने करे.

आधार को लिंक करने की पूरी जिम्मेदारी अब बैंक पर होगी. बैंक को किन कर्तव्यों को जानना होगा यह जाने.

बैंक की जिम्मेदारी.

बैंक को भी अपना कर्तव्य नहीं भूलना चाहिए becuase एनपीसीआई ने अब Aadhar seeding process को सभी बैंक को सख्ती से पूरा करने को कहा है.

consent form की पूर्णता की जाँच, verification की जाँच करना और ग्राहक के हस्ताक्षर को प्रमाणित करना. अधिकारियों द्वारा दस्तावेज़ीकरण से संतुष्ट होने के बाद उन्हें निचे दिए गए Activities करनी चाहिए.

a) आधार नंबर को बैंक खाते से जोड़ना (CBS में).
b) एनपीसीआई मैपर Update करना.

Important : – आधार नंबर को bank खाते से जोड़कर branch मैपर को अपडेट नहीं कर रही है. मैपर अपडेट प्रक्रिया का पालन उनकी केंद्रीय टीम या आईटी प्रभाग द्वारा किया जा सकता है जैसा कि मामला हो सकता है.

c) मैपर फ़ाइलों को Upload करने के बाद NPCI से प्राप्त responce files को verify करना होगा.

d) किसी भी आधार नंबर को update करने में fail होने के मामले में आवश्यक सुधारात्मक कार्रवाई करनी चाहिए और CBS को भी तदनुसार Update किया करना चाहिए.

Customer query / complaint handling करना.

शाखाओं को समझना चाहिए कि यदि scholarship aadhar number npci mapper में update नहीं की गई है, तो action clear रूप से केवल बैंक के साथ है. बैंक उनके ग्राहकों को यह नहीं बता सकते है कि NPCI ने आपके आधार नंबर को अपडेट नहीं किया है.

बैंक के CBS में आधार कार्ड नंबर के active होने का मतलब यह नहीं है कि वह Mapper file updated है. इसी लिए बैंक शाखा को उनके ग्राहकों को धोखा देने के लिए CBS Screen नहीं दिखानी चाहिए या सीडिंग करने वाले ग्राहक को स्क्रीन शॉट नहीं देना चाहिए.

यदि customer complaints करते हैं, तो शाखा को Aadhaar mapping से निपटने के लिए अपनी internal team से संपर्क करना चाहिए और NPCI Mapper में Aadhar को Update न करने के कारण का पता लगाना चाहिए.

मूल कारण का पता लगाने के बाद बैंक को corrective action करनी चाहिए और ग्राहक की शिकायत का निवारण करना चाहिए.

सभी कर्तव्यों को केवल आवेदक और बैंकों के प्रति नहीं बनाया गया है Because कुछ कर्तव्य इसके बाद NPCI को भी जिम्मेदारी पूरी करनी होगी जिसके बाद Aadhaar seeding process scholarship aadhar linking पूरी हो जाती है.

एनपीसीआई की जिम्मेदारी.

तो npci का क्या काम है? आपको बता दें क्योंकि इसके बाद, किसी भी आवेदक को आधार मैपिंग से परेशान नहीं होना पढ़ेगा.

  • Mapper, NPCI द्वारा बैंकों को आधार नंबर को उनके ग्राहक का अनुरोध अनुसार Update या remove के लिए प्रदान किया गया एक platform है.
  • मैपर से आधार नंबर को अपडेट करने या हटाने की गतिविधि केवल बैंकों द्वारा ही की जा सकती है. एनपीसीआई अपने आप में Mapper record को अपडेट नहीं करता है.
  • यदि ग्राहक grievance redressed के लिए NPCI के पास जाता है, तो एनपीसीआई को ग्राहक की समस्या तक पहुंचना होगा.
  • एनपीसीआई यह सुनिश्चित करेगा कि mapper platform उपलब्ध है, बैंकों द्वारा प्रस्तुत फाइलें संसाधित की जाती हैं और प्रतिक्रिया प्रदान की जाती है.

इस सब के बावजूद, अगर सब्सिडी बैंक खाते में mahadbt benefits नहीं मिलता है, तो क्या किया जाना चाहिए, वे जान लेते हैं.

ग्राहक की शिकायत.

यदि बैंक को सभी संबंधित दस्तावेज जमा करने के बाद Aadhaar number NPCI mapper में reflecting नहीं हो रही है, तो कार्रवाई केवल बैंक के साथ टिकी हुई है.

ग्राहक को समस्या निवारण के लिए बैंक के bank’s customer service cell से संपर्क करना चाहिए और समस्या का समाधान न होने पर escalation matrix का पालन करना चाहिए.

यदि ग्राहक NPCI को लिखना चाहता है, तो बैंक द्वारा विधिवत रूप से स्वीकार किए गए consent form की प्रति संबंधित बैंक की जिम्मेदारी किसी को प्रदान की जानी चाहिए.

किसी भी escalations के लिए ग्राहक npci.dbtl@npci.org.in पर बैंक द्वारा प्रदान की गई Aadhaar consent acknowledgment copy के साथ लिख सकते हैं.

Aadhar scholarship link अतिरिक्त जानकारी.

ग्राहक किसी भी समय केवल एक खाते को आधार से लिंक कर सकता है. यदि ग्राहक कई बैंकों को सहमति देता है, तो अंतिम सीडेड बैंक को scholarship/ सब्सिडी दी जाएगी, जिसके साथ NPCI Mapper में स्थिति Active है.

यदि aadhar status inactive aadhar है, तो ग्राहक को संबंधित बैंक शाखा में व्यक्तिगत रूप से जाना होगा और विधिवत भरे ग्राहक सहमति फॉर्म को जमा करना होगा.

बैंक खाते में विफल लेनदेन को फिर से last seeded bank account में शुरू करने के लिए OMC’s से संपर्क किया जाना चाहिए.

मुझे उम्मीद है कि इसके बाद सब कुछ आपके साथ सही होगा, क्योंकि mahadbt पोर्टल पर सब कुछ सरल है, voucher button active है और voucher redeem किया जा सकता है. इस लेख का उद्देश्य बस इतना है कि आधार सीडिंग प्रक्रिया जिसे scholarship aadhar link कहा जाता है इतना कठिन माना जाता है, यह कितना आसान हो गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here