Website Duplicate Content Problem क्या होता है ! वर्डप्रेस डुप्लीकेट कंटेंट प्रॉब्लम से कैसे बचाए अपनी वेबसाइट?

1
32

जब हम Blogging Currier की शुरुवात करते है तो बड़ी उम्मीद और लगन से मेहनत करते है. ब्लोगिंग मे Search Engine Optimization का बेहद बड़ा रोल होता है. पोस्ट के साथ-साथ जब हम WordPress SEO की बात करे तो, WordPress Duplicate Content एक बेहद बड़ा मुद्दा होता है जिसमे हर Website Owner को Google Guidelines के According सभी चीजे Follow करनी पढ़ती है.

 

duplicate content problem solution
duplicate content problem solution

क्या आप जानते है Website Duplicate Content Issue क्या है? अभी-अभी हुए जरुरी Updates के मुताबिक आपको अपने ब्लॉग पर ध्यान देना बेहद जरुरी है. सभी Webmasters के लिए Google अपने Search Console Account की मदत से डुप्लीकेट कंटेंट से बचने के लिए Warning /Suggestions देता रहता है. जहा कही WordPress की बात आती है एक चीज उसमे Common होती है जिसका नाम होता है “SEO“. आज भी कई Webmasters वर्डप्रेस ब्लॉग की मदत से अच्छी-खासी कमाई कर रहे है.

कभी भी एक Better Website बनाने के लिए Best Blogging Platform भी चुनना जरुरी होता है. WordPress Blog से शुरुवात करने से कई सारे Feature इसमें मिल जाते है जिसकी मदत से Best Ranking के लिए आसानी भी हो जाती है. लेकिन इसमें कई सारी समस्या भी आती है जिसमे ज्यादा सताने वाला स्टेप्स होता है Blog Duplicate Content Problem. सभी ब्लोगर्स को पता होना चाहिए की इस प्रॉब्लम से कैसे छुटकारा पाया जाये.

WordPress Duplicate Content क्या है?

सिर्फ WordPress SEO बेहतर कर लेने  से किसी ब्लॉग को लम्बे समय तक फायदा हो जायेगा एसा बिलकुल भी नही है. कोई कुछ भी कहे वेबसाइट आपकी है उसका रख-रखाव भी आपको ही करना है. आपने देखा होगा या सुना होगा की WordPress Duplicate Content किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए कितना Dangerous होता है. आज के इस आर्टिकल मे आप जान जायेंगे की Duplicate Content क्या है? और कैसे डुप्लीकेट कंटेंट से बचा जा सकता है? 

इस पोस्ट का पढ़ने वाला हर इंसान स्मार्ट होगा क्योकि Duplicate Content का मतलब हर कोई समजता है एसा हमारा मानना है. लेकिन इसका रोल Blogging मे क्या होता है और किस प्रकार डुप्लीकेट कंटेंट के नुकसान है यह पता नही होता. जब कभी किसी वेबसाइट या ब्लॉग पर एक ही Same Content होता है पर उसी एक से ज्यादा URL से Access किया जा सकता है तो उस समय भी WordPress Duplicate Content Problem हो सकता है.

Google search console यह डुप्लीकेट कंटेंट HTML Improvements मे भी पाया जाता है. duplicate content का मतलब है कि आपकी वेबसाईट पर कई जगहों पर एक ही URL की अलग-अलग sub url मे दिखाई देती है, इससे होता यह है google bots इतने urls को देख confuse हो जाते है और search engine को पता नहीं चलता है कि search engine में कौन सा URL सही होगा जो दिखाया जाना है.

Duplicate Content On The Same Page.

और हा एक बात और बता दे यह Copy-Paste Blogs पर भी होता है क्योकि वह Original Content का डुप्लीकेट कंटेंट होता है. इसमें एक Example देखते है जो निचे दिए गए है.

  • https://www.yoursite.com/blogging/.
  • https://yoursite.com/blogging/.
  • https://www.yoursite.com/category/blogging/.
  • https://yoursite.com/tag/blogging/.
  • https://yoursite.com/category/blogging/.
  • https://www.yoursite.com/tag/blogging/.
  • https://yoursite.com/category/blogging.
  • https://www.yoursite.com/category/blogging/.

यह समस्या बुरी तरह से किसी भी website ranking को harm कर देती है, परिणाम स्वरुप तब तक यह समस्या ख़त्म नहीं होती है जब तक इसका solution नहीं मिल जाता. यह लेख duplicate content webmaster जो इस परिस्थिति से अंजान है या डुप्लिकेट सामग्री के विभिन्न कारणों को समझने मे परेशान है वह सभी का समाधान यहा पर होगा.

डुप्लीकेट कंटेंट issue क्यो आता है?

डुप्लीकेट कंटेंट प्रॉब्लम search console मे दिखाई देने पर घबराने की जरुरत तो नहीं, लेकिन इसे अनदेखा करना मतलब blog की ranking decrease करना है. इसके कई कारण है जो सभी bloggers के blogs पर अलग-अलग तरीको को follow करने की वजह से duplicate content problem generate हो जाते है. चलिए देखते है डुप्लीकेट कंटेंट के कारण कौनसे है?

  • Copy Content.

जब से blogging craze बढ़ा है bloggers और blogs की संख्या भी बढ़ गयी है. कुछ समय पहले सिमित ही websites होती थी. लेकिन अब हर topic पर अलग-अलग content internet पर मौजूद है. लेकिन इस बिच पैदा हो गए copy केट जी हा दुसरे website content को अपने blog post पर कॉपी paste करके लिखना. 

वैसे एसे blogs ज्यादा दिन तक ranking मे टिकते नहीं है. लेकिन अगर आप एक real blogger है तो फिर भी आपके web पर यह प्रॉब्लम आता है. इसका कारण है एक topic पर कई contents का उपलब्ध होना. अपने लिखे quality post मे भी copy content आ सकता है क्योकि कुछ simple sentence का मिलता-जुलता होना.

  • Yoast Setting.

लगभग 70% websites पर yoast plugin देखने को मिलेगा जो search engine optimization के लिए सबसे बढ़िया प्लगइन मे से एक है. अगर seo plugin yoast setting पर सही ध्यान न रहे और गलती से एसी settings हो जाती है जो website duplicate content problems create करवा देती है.

एसा नहीं है की कोई भी गलत setting करने की खुद सोचे लेकिन unfortunately एसा हो जाता है. पिछली बार अगर आपने notice किया होगा तो इस प्लगइन मे भी गड़बड़ हुयी थी जिसके चलते media files index हो गयी थी. खुद yoast ceo ने भी इस बात को माना की yoast मे bugs के कारण कई website की ranking harm हुयी है जिसे जल्द ही recover करने के लिए एक plugin भी बनाया गया है.

  • Duplicate Tittle.

जैसा की हमने ऊपर बताया है yoast plugin के बारे मे इसी तरह हर seo plugin settings मे blog post लिखने के बाद seo tittle लिखना पढ़ता है. आप भी जानते होंगे की हर एक पोस्ट के लिए different और unique tittle होना जरुरी है. जब भी एक से ज्यादा post tittle मे same tittle दिया जाता है तो duplicate content issue generate हो जाते है.

  • Duplicate Description.

एक और कारण है डुप्लीकेट सामग्री का create होना. एक unique site tittle के साथ unique description भी होना जरुरी है. अब अगर एक से ज्यादा description same पाए जाते है तो डुप्लीकेट content का issue उत्पन्न हो जाता है. इसके लिए google duplicate content guidelines को जरुर follow करे.

  • Domain Setting.

एक domain के 4 urls हो जाते है जो निचे दिए गए है. search console मे preferred domain setting सही न होने पर भी डुप्लीकेट कंटेंट प्रॉब्लम फिक्स नहीं हो पता है.

  • http://yoursite.com
  • http://www.yoursite.com
  • https://yoursite.com
  • https://www.yoursite.com

ऊपर दिए गए सभी domain name एक ही वेबसाइट के है, लेकिन फिर भी search engines की नजर मे अलग-अलग है. इनकी तरह और भी कई कारण है duplicate content के जैसे:’

  • Session IDs और
  • Sorting options आदि.
Duplicate Content Issue Ko Fix Kaise Kare?

क्या आप भी यही सोच रहे है How To Fix Duplicate Content Issue In Hindi? हा… क्यो नहीं चाहेंगे अगर इस पोस्ट पर आये है तो पक्का आपको भी डुप्लीकेट कंटेंट का problem face करना पढ़ा होगा.  और अगर आपको नहीं पता है दी डुप्लीकेट कंटेंट प्रॉब्लम find कैसे करे तो इसके लिए google search console आपके लिए फायदा पहुचायेगा.

  • Google Search Console.

कभी भी एक बात क्या खास ध्यान रहे success blogger तभी कहलायेंगे जब सही तरीके से गूगल के search console और google analytics को पढना और समजना सिख जायेंगे. चलिए देखते है कैसे html improvements से duplicate content solution पाए.

duplicate content fix kaise kare
duplicate content fix kaise kare
  • सबसे पहले आपको अपने सर्च कंसोल अकाउंट मे login करना है.
  • Go To Old Version पर click करिए.
  • Search Appearance ऑप्शन को open करे.
  • अब HTML Improvements पर click कर खोले. 

इस प्रकार से ऊपर दिए गए इमेज की तरह duplicate tittle, description या duplicate tittle tags दिखाई देंगे तो इसका problem भी डुप्लीकेट content कहलाता है. search engines इन्हे देर से ही सही लेकिन panalyzed जरुर करते है.  चलिए अब देखते है duplicate content को fix कैसे करे?

  • Use Copy Content Checker Tools.

अगर ऊपर दिए गए अनुसार html improvements मे कोई problem न दिखाई दे तो जरुरी नहीं की आपकी website मे duplicate content issue नहीं होगा. इन्टरनेट पर एसे कई tools मौजूद है जो free copy content checker है. जैसे copyscape, siteliner आदि. इन tools की मदत से डुप्लीकेट सामग्री ढूंढ़कर repair जरुर करे.

  • SEO Settings.

सर्च इंजन मे website traffic बढ़ाने के लिए सभी seo settings पर ध्यान देते है. लेकिन इस दौरान कुछ गलतिया है जो अक्सर webmasters करते दिखाई देते है, जैसे website categories और tags को index करना. जैसा की हमने ऊपर बताया है category और tags मे जो url generate होते है उनमे भी वही content होता है जो original पोस्ट मे है इसीलिए अगर यह दोनों no-index जरुर रखे जिससे duplicate content solution मिल जाता है.

duplicate content issue details
duplicate content issue details
  • Robot.txt Settings.

robot.txt file को कभी under estimate न करे. हमेशा एक गलत setting आपकी blog ranking की what लगा सकता है. निचे दिए गए अनुसार robots.txt setting से common pages, pagination, comments आदि no index जरुर रखे.

User-agent: *
Disallow: /about/ 
Disallow: /contact/
Disallow: /terms-and-conditions/
Disallow: /disclaimer/
Disallow: /privacy-policy/
Disallow: /thank-you/
Disallow: /page/
Disallow: /deal/
Disallow: /comments/
Disallow: /tag/

तो इस तरीके unnecessary सभी urls को noindex करना seo के लिए बेहद जरुरी होता है duplicate content को fix कर देता है.

  • Canonical URL.

डुप्लिकेट कंटेंट को फिक्स करने का तरीका सबसे अच्छा है rel-cononical tag का इस्तेमाल करना. इसके बारे में search engines को बताने का यह आसान तरीका है. ध्यान रहे इस tag को html web page की setting मे लगाना चाहिए.

मान लीजिये कि हमारे पास seo 2 page है जो seo page 1 का डुप्लिकेट है. यदि आप इस page के duplicate content के बारे मे search engine को सूचित करना चाहते हैं, तो दिए गए canonical tag को seo page 2 के markup में paste करे. जैसे इसका उदाहरण देखते है:

<link href=”https://yoursite.com/seo-1” rel=”canonical” />

ऊपर दी गयी setting मे यह canonical code बताता है कि current page वास्तव में ऊपर बताई गयी URL की ही एक same url है . इस सेटिंग को करने के बाद ज्यादातर link jues को seo page 1पर transfer कर दिया जाएगा और इस प्रकार उस page की ranking बूस्ट हो जाएगी.

इस प्रकार से आप अपने blog से duplicate content problem को fix कर सकते है. तो कैसा लगा आपको डुप्लीकेट कंटेंट क्या है और इस प्रॉब्लम को fix कैसे करे हमे जरुर बताये comments के जरिये. साथ ही सभी beginners के लिए इस पोस्ट को social media पर साझा करना न भूले.

एक सत्य duplicate content problems एक ऐसी problem है जिसे आप लगभग हर blog पर देख सकते हैं. इसके ऊपर बताये गए कारणों के अलावा और कई अन्य कारण हो सकते हैं, फिर वह चाहे आकस्मिक हो या फिर सोच समजकर किया गया मजाक डुप्लीकेट कंटेंट प्रॉब्लम आना ही आना है.

***

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here