Database Management System क्या है? DBMS Advantages & Disadvantages ! डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम की जानकारी.

0
297

DBMS यह Database Management System का Short नाम है। मतलब डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम को ही डीबीएमएस कहा जाता है। Computerized Database के निर्माण तथा रख-रखाव के लिए हमे एक विशेष प्रकार के सॉफ्टवेयर की आवश्यकता होती है, जिसे डेटाबेस प्रबन्धन प्रणाली कहा जाता है।Types Of Database Management System

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम की जानकारी तरफ से बढ़ने से पहले Database क्या है यह भी जानना जरुरी है। डाटा बेस किसी Special Purpose के लिए किसी एक जगह पर Store तथा आपस में Interconnecting Data को ही डेटाबेस कहा जाता है। जरुरी नहीं है की एक Database सिर्फ एक ही काम के लिए इस्तेमाल किये जाए, इसका इस्तेमाल कई उद्देशो के लिए भी किया जाता है।

Database Management System में Data Processing का अहम रोल होता है। डाटा प्रोसेसिंग किसी Input को Useful Output में बदलने के लिए होने वाले किसी इनपुट को उपयोगी आउटपुट में बदलने के लिए होने वाली Activities और Procedure को डाटा प्रोसेसिंग कहा जाता है।

इसमें डाटा प्रोसेसिंग इनपुट डाटा को Useful Information में बदलता है याने उपयोगी सूचना यह -आउटपुट में बदल जाता है। खासतर डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम में Data Processing का रोल ही इनपुट को आउटपुट में बदलने का होता है।

> जरुर पढ़े – Computer Software क्या है ! कंप्यूटर सॉफ्टवेर डिटेल्स और उनके प्रकार.

Database Management System Notes.

मुख्यता यह कंप्यूटर आधारित रिकॉर्ड के रख-रखाव की प्रणाली है अर्थात यह एक ऐसी सिस्टम है, जिसका उद्देश्य Record Information को संभालकर रखना है। Database Managament System यह User को एक ऐसा वातावरण प्रधान करती है, जिसके माध्यम से Data Store करना तथा पुनः प्राप्त करना बहुत ही सुविधाजनक हो जाता है। MySQL, MS ACEESS, Ingress etc. इसके उदाहरण है।

DBMS याने Database Management Softwares तीन तरह के होते है जिसमे पहले Oracle Database Software होता है, दूसरा Microsoft SQL Server में इस्तेमाल होता है और तीसरा Microsoft Access में इस्तेमाल किया जाता है।

Internet पर अनेको Database Management System Tutorial आपको मिलेंगे पर वह इतने Advanced होते है की उनके बारे में A तो पता नहीं चलेगा Z जानकारी दी जाती है. इससे होता क्या है जो जानकारी DBMS की स्टेप से होनी चाहिए वह होती है। क्या आप DBMS की विशेषताएं जानते है? अगर नही तो नीचे दिए गए Database Management System Features को दिए गए है ध्यानपूर्वक पढ़े।

  • Database का निर्माण करना।
  • नए Data को शामिल करना या जोड़ना।
  • वर्तमान डेटा को Edit करना।
  • Data को Temprory या Permanently Delete करना।
  • Information System को ढूंढना एवं प्राप्त करना।
  • डेटा को In Order सेट करना।
  • आकर्षक एवं Meaningful Reports को Design करना और Print करना।
  • Database Management System की संरचना।

साथ ही वेब बेस्ड डाटाबेस की जानकारी भी जानना बेहद आवश्यक है, क्योकि जीतनी Online Database Management System की जानकारी प्राप्त करेंगे वह कम ही लगेगी.

Web Based Databases के आगमन के साथ, इंटरनेट Trend और Internal और External Applications के लिए Intranet का उपयोग करने की दिशा में है। यह इस प्रकार है कि सभी Database System पूरी तरह से Web Enabled हैं या कम से कम Web based Components होते हैं। Web based database system के आर्किटेक्चर में निम्न Database Management Software Components शामिल हैं.

  • Users को Internet से Connect करने वाला।
  • Pages प्रोवाइड करने के लिए Application के साथ Software Application Interface काम करता है।
  • आवश्यक डेटा प्रदान करने के लिए DBMS Application Server के साथ इंटरफेस करता है।
  • एप्लिकेशन सर्वर वैकल्पिक हैं लेकिन Web Architecture के लिए Recommended हैं। वे Programmes के Execution की सुविधा प्रदान करते हैं और इनमे Security, सेशन मैनेजमेंट आदि शामिल हैं।
  • Web Server जो Remote Web Client से Request Received करता है। वेब सर्वर बस अपने URL द्वारा Defined Page को पुनर्प्राप्त करता है और इसे वेब ब्राउज़र पर भेजता है। अक्सर, वेब ब्राउज़र को एक Dynamic Page को एकत्रीत करने के लिए Program Execute करना होता है। इस मामले में, वेब ब्राउज़र को DBMS में डेटा तक पहुंचना होता है।

Types Of Database Management System.

डेटाबेस प्रबंधन प्रणाली याने (DBMS) की 5 प्रकार पाए जाते है. Popular Database Models और उनके Management Systems में मुख्य RDMS, NoSQL DBMS, CDBMS, IMDBMS, Cloud आदि शामिल है।

  • RDMS मतलब Relational Database Management System होता है जिसमे ज्यादातर इस्तेमाल करने के मामले में अनुकूल होते है, लेकिन, RDBMS Tier 1 Product इसके मुकाबले काफी महंगे हो सकते हैं। Relational Database Software Cost काफी महंगे होते है
  • NoSQL DBMS यह समय के साथ विकसित हो सकता है और जो कमजोर Loosely Defined Data Structure होते है उनके लिए उपयुक्त है।
  • CDBMS का संक्षिप्त रूप Columnar Database Management System होता है जो Data Warehouses के लिए उपयुक्त होता है और इसमें बड़ी संख्या में समान Data Items देखने को मिलता है
  • IMDBMS को In-Memory Database Management System कहा जाता है, इन-मेमोरी डेटाबेस प्रबंधन प्रणाली तेजी से प्रतिक्रिया के समय और भी अधिक बेहतर प्रदर्शन प्रदान करता है।
  • CDBMS याने Cloud Based Data Management System में यह Cloud Services Providers DBMS को बनाये रखने के लिए और प्रदान करने के जिम्मेदार होते है।

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (डीबीएमएस) आर्किटेक्चर तीन स्तरों से मिलकर बनी होती है, इन्टरनल लेवल, कांसेप्तुअल लेवल और एक्सटर्नल लेवल। इन सभी लेवेल्स का विवरण नीचे दिया गया है।

Architecture of DBMS.

1. Internal Level – इंटरनल लेवल स्टार में Database के Structure of physical storage का वर्णन करता है। यह वर्णित करता है कि वास्तव में डेटा डेटाबेस में कैसे Store और Organized होता है। वह यह भी निर्धारित कैट है कि कौनसी Indexes मौजूद है स्टोर किये गए Records किस क्रम में है आदि। इसे Physical Level (भौतिकी स्तर) भी कहा जाता है।

2. Conceptual Level – कॉन्सेप्टुअल स्तर में, पूर्ण Database Structure होता है। यह स्तरों की मध्य जानकारी के रूपांतर की प्रक्रिया होती है। यह database में संग्रहित Types Of Data तथा डेटा के संबंध को वर्णित करता है। इसे Database Management सिस्टम में इस स्तर को Logical Level भी कहा जाता है।

3. External Level – एक्सटर्नल लेवल स्तर में डेटा Pesonal User द्वारा उपयोग में लाया जाता है। यह डाटाबेस के उस भाग का वर्णन करता है जो यूजर के लिए उपयोगी होता है। यह Users को उनकी आवश्यकता अनुसार Data को Access करने की अनुमती इन प्रकार प्रधान करता है, ताकि एक ही डेटा एक ही समय पर क़ाय यूज़र्स द्वारा इस्तेमाल किया जा सके। यह लेवल Database List को इस्तेमाल करने वाले से छुपाता है। यह स्तर अलग- अलग यूज़र्स के लिए अलग-अलग होता है और इसे Veiw Level भी कहा जाता है।Database Management System Uses, Advantages, Disadvantages

Advantages Of Database Management System.

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम के फायदे और नुकसान दोनों है। चलिए पहले देखते है DBMS के फायदे कौन-कौनसे है उसके बाद नुकसान निचे दिए गए है।

1. Reduction in Data Repitition – अच्छी तरह व्यवस्थित किये गए डेटाबेस में सामान्यता Data का कोई दोहराव नही होता। समस्त डेटा को एक जगह रखने के कारण हर Information को केवल एक बार स्टोर किया जाता है। यह पहला फायदा Database Management System का होता है।

2. Data Consistency – डेटा के एक ही अथाह पर केंद्रित होने के कारण Data Stability बनी रहती है, क्योकि उसमे एक ही इनफार्मेशन के दो मानो की संभावना समाप्त हो जाती है। Data Variable तब होता है जब डेटा दो जगह रखा गया हो और केवल एक जगह Rectify किया गया हो। यह दूसरा फायदा DBMS का है।

3. Data Sharing – डेटा शेयरिंग करके एक समय पर क़ाय Program Data का इस्तेमाल कर सकते है। जिसमे Programmes को अपना डेटाबेस तैयार करने की आवश्यकता नही होती और इसे बहुतसे समय और परिश्रम बच जाता है।

4. Sequrity Of Data – डेटा सिक्योरिटी यह प्रणाली Database Management System के लिए डेटा को Unauthorized Users तथा Illegal Changes से बचाता है। मतलब यह केवल Authorized Users को ही Data का इस्तेमाल करने की अनुमती प्रधान करता है।

5. Data Integrity – डेटा की संपूर्णता (Overall Comleteness, सटीकता (Accurancy) तथा Constistency (निरन्तरता) को संदर्भित करती है। यह एक डेटा record के दो Updates के बीच परिवर्तन के अभाव को दर्शाता है। डेटा इंटीग्रिटी दर्शाता है कि डाटाबेस में स्टोर data बिल्कुल सही है और नया है।

तो इस प्रकार से Database Management System के मुख्य 4 लाभ है। लेकिन DBMS Limitations भी होती है जो जानना आवश्यक हो जाता है। चलिये देखते है डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम की सीमाएं।

Disadvantages Of Database Management System.

1. Hardware और Software की Cost– सॉफ्टवेयर को चलाने कब लिए Data को Fast Speed से प्रोसेस करने वाले Processor और अधिक क्षमता वाली Memory की आवश्यकता पढ़ती है, जिनकी Cost अधिक होती है।

2. Complexity – एक Database Management System के अच्छे कार्य करने की क्षमता की पूर्व कल्पना करना उस DBMS Software को कठिन बना देती है। डेटाबेस प्रबंधन प्रणाली को समझने की विफलता एक Organization के लिए गंभीर परिणामो का कारण बन सकती है।

3. Cost of Staff Training – अधिकतम Best Database Software और Simple Database Software सिस्टम के लिए अत्यंत जटिल होते है, इसीलिए यूजर को डेटाबेस इस्तेमाल करने के लिए Training देंने की आवश्यकता पढ़ती है। इस प्रकार DBMS Software Run करने के लिए आर्गेनाइजेशन को Employees को ट्रेनिंग के लिये एक बड़ी राशि का भुगतान करना पड़ता है।

4. Appointing Technical Staff – एक संघठन में Trained Technical Staff जैसे कि Database Administrator, Application Programmer आदि की आवश्यकता होती है, जिसके लिये आर्गेनाइजेशन को इन व्यक्तियों को एक अच्छे वेतन का भुगतान करना पड़ता है जिससे Database Management System Softwares Cost बढ जाती है।

5. Database Failure – बहुतसे संघठनो में, सभी डेटा एक ही डेटाबेस में स्टोर होता है। यदि पावर बंद हो जाने के कारण
डेटाबेस विफल हो जाता है या Databaae Storage Device ही Fail हो जाता है तो हमारा सभी Valuable Data Loss हो सकता है या पूरी System बन्द हो सकती है।

चलिए अब देखते है Top 10 Database Management Tools कौनसे है। अगर आपको इन database tools की जानकारी पहले से नहीं है तो आपको अवश्य जानने चाहिए. इस पोस्ट में डेटाबेस प्रबंधन के लिए Top 10 Best Free Database Management Free Tools की जानकारी दी गयी है।

  1. Adminer,
  2. EMS SQL Manager Lite for SQL Server,
  3. DBComparer,
  4. Dbeaver,
  5. SQLite Database Browser,
  6. HeadiSQL,
  7. DBVisualizer Free,
  8. FlySpeed SQL Query
  9. Firebird,
  10. SQuirrel SQL.

इस प्रकार से ऊपर दिए गए सभी टूल्स Popular Database Systems में Database Programs को बनाने में और Database Application को Run करने के लिए इस्तेमाल किये जाते है। DBMS Terms याने डीबीएमएस शब्दावली में ज्यादातर इस्तेमाल किया जाते वाले शब्द Relation, Tuples, Attributes, Cardinality, Degree और Views यह होते है। आशा करते है आपको Database Information Management का यह आर्टिकल पसंद आया होगा।

> जरुर पढ़े – कंप्यूटर नेटवर्क क्या है ! Types Of Computer Networks !
> जरुर पढ़े – Without Data Loss Computer Hard Disk Partition Space बढ़ाये .
> जरुर पढ़े – Virus तथा Malware की जानकारी ! Computer Virus से कैसे बचे.

जल्द ही हम Open Source Database Software और Different Database Systems की जानकारी के साथ लौटेंगे। तब तक Database Management System याने DBMS Notes के लिए हमारी वेबसाइट को Subscribe करे तथा डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम की जानकारी सोशल मीडिया में सभी लोगो तक शेयर जरुर करे.

***

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here