हम इस Article में·Chemical Engineering Kya hai और केमिकल इंजिनियर कैसे बने पूरी जानकारी शामिल कर रहे है। हमने आज तक इंजीनियरिंग में कई Fields की जानकारी इस Blog पर Publish की है।

chemical engineering kya hai aur chemical engineer kaise bane

अगर आप सर्च भी करेंगे तो आपको इसकी पूरी जानकारी मिल। आपको पता होना चाहिए की chemical engineering, यह एक engineering ब्राँच है जो कच्चे माल के उत्पादों में बदलाव लाके उस कच्चे माल को उपयोगी बनाती है।

Related – 12th के बाद क्या करे?

Chemical Engineering क्या होता है?

इस मे chemical plants के Operation और Design पर काम किया जाता है। इसमे economical commercial processes होती है जो कच्चे माल को उपयोगी बनाती है।

यह engineering course physics, chemistry, mathematics, biology, economic, product designing और materials जैसे principal पर काम करता है।

chemical engineering naino technology और nomenclature पर और chemical resources का कच्चा माल, living cell, microbiology और energy को उपयोग करने के लिए और इसे बेहतर प्रोडक्ट में Transfer करने के लिए काम करते है।

समय की बढ़ती माँग और नई technology के वहज से chemical engineering में रसायनों के उत्पादन पर ध्यान केंद्रित किया है।

इस क्षेत्र में बढ़ते अभ्यास के कारण इस engineering क्षेत्र की plastic, consumer Product, ईंधन, दवा, खाद्य पदार्थ और पर्यावरण समाधान जैसे उत्पादनों में इसकी माँग बढ़ रही है।

इस क्षेत्र का लगभग हर industry में उपयोग होता है। जहाँ Science और engineering की technology का उपयोग कर गुणवत्ता पूर्ण product का उत्पादन करना ही इस field का काम है।

Chemical Engineering क्या है और Chemical Engineer कैसे बने?

जैसे कि हमने देखा chemical engineering एक इंजीनियरिंग का प्रकार है जिसमे materials, equipment, products के Design और सुधार के लिए काम किया जाता है।

यह ऐसी फील्ड है, जहाँ कच्चे माल को useful products में convert करके, उनकी quality और productivity को बढ़ाकर उनकी Cost कम करता है।

इस क्षेत्र के engineering pharmaceutical, computer products, bio technology, manufacturing, material, medicine, aerospace, automobile जैसे हर sector में काम करते है।

इस इंजीनियरिंग में Food production technology, clean drinking water, कपड़ों के लिए new fiber, fuel, environmental issues के समाधान या बीमारियों के निदान और उपचार में सुधार करने का काम किया जाता है।

अगर आप chemical engineer बनना चाहते है तो सबसे पहले आपको science और mathematics जैसे विषयों में रुचि होना जरूरी है।

क्योंकि आपको high school में विज्ञान और गणित ( सामान्यतः calculus) जैसे विषयों को चुनना होगा। उसके बाद आपको bachelor और master degree कोर्स chemical engineering में करना पड़ेगा।

Chemical Engineer बनने के लिए क्या करे?

इसके साथ आपको और भी subjects काम करना पड़ेगा तो आइए जानते है कि chemical engineer कैसे बने? आपको केमिकल इंजिनियर बनने के लिए किस तरह की पढ़ाई करनी होगी उसकी एक पूरी जानकारी नीचे दी गई है –

केमिकल इंजिनियर कैसे बने?

  • सबसे पहले उच्च माध्यमिक स्कूल में आपको chemistry, physics और गणित (math) जैसे विषयों का चुनाव कर इसका आपको Study करना पड़ेगा।
  • उसके बाद आपको chemical engineering में Bachelor’s degree  के लिए chemical engineering की फ़ील्ड जिन university में है वहा admission करके चार वर्ष का पूरा course कर bachelor degree उच्च श्रेणी प्राप्त करनी चाहीये।
  • उसके बाद आपको masters degree करना हो तो आप वह भी कर सकते हो। आपको ABET द्वारा मान्यता प्राप्त कार्यक्रम में भाग भी लेना चाहिए जिससे आपको जल्द ही license मील सके।

आप इस इंजीनियरिंग में chemical products, processes के Analysis और invention (आविष्कार) के बारे में जानेंगे और साथ ही manufacturing के लिए Equipment और processes को कैसे Design किये जाते है यह भी जानेंगे।

आपके कॉलेज में placement भी होंगे बड़े बड़े Campus रहेंगे जहा आप अपनी अच्छी सूज बुज से अच्छी Salary वाली Dream Job भी पा सकते है या internship भी कर सकते है।

Chemical Engineer बनने के लिए किस Subjects की पढाई करे?

यदि आपको केमिकल इंजिनियर बनने के लिए Chemical Engineering Course करना है तो आपको कुछ बातो का ख़ास ख्याल रखना होगा.

जैसे की आप अगले कुछ विषयों पर अभ्यास कर सकते है जैसे कि –

केमिकल इंजीनियरिंग में क्या पढ़ते है?

  • आप nuclear engineering कर सकते है। इस engineering में आपको development और nuclear power के बारे में पढ़ने को मिलेगा।
  • इसके साथ ही nomenclature engineering भी है जहाँ छोटे chemical substances और ultra-fine कणों जो 1-100 नैनोमीटर के है उनके बारे में जानने को मिलेगा। इस क्षेत्र का robotic, energy, bio medicine और नए निर्माण में ज्यादा उपयोग होता है।
  • आपको bio chemical में रुचि हो तो आपको bio chemical engineering लेना बेहतर होगा जहाँ बेहतर या new product बनाने के लिए जैविक पदार्थों पर तकनीक लगाना इस क्षेत्र का काम है जहाँ बेहतर जल और स्वच्छ ईंधन के लिए treatment procedures का शोध किया जाता है।
  • Petroleum और gas जैसे subject से chemical engineering में जहाजों के क्षेत्र में काम किया जाता है जहाँ उत्पादन को बढ़ावा देने, कच्चे तेल को उपयोगी रूप में बदलने और new extraction techniques  को विकसित करने का काम होता है।
  • आप environment और energy से जुड़े अभ्यास, प्रयोग या शोध करना चाहते है तो आपको ऊर्जा और पर्यावरण विषय को चुनना बेहतर रहेगा।

Chemical engineering Business करने में भी छात्र बहुत आगे बढ़ रहे है। आपको इस क्षेत्र में भी व्यवसाय के अवसर मिलेंगे।

जैसे की आप  जलवायु परिवर्तन, स्वच्छ पानी, हवा  और टिकाऊ ऊर्जा के लिए नई technology का शोध कर सकते है।

Chemical Engineering Ke Fayde क्या है?

Chemical engineering के बहुत सारे फायदे हैं आज इस क्षेत्र में नौकरी की कोई कमी नहीं है लगभग जितनी भी कंपनियां आप आपने आसपास दिख रहे है सब में chemical engineer की आवश्यकता पड़ती है।

इस area में आपको कितना लाभ हो सकता है इसके बारे कुछ बाते नीचे बताई गई है –

  • आपको किसी भी Government या Private Company में engineer की Job मिल सकती है।
  • कोई भी University और College से यदि कोई भी chemical engineering की पढ़ाई करते हैं तो उनके लिए Salary Package में आराम से 10 लाख से 15 लाख मिल जाएगा।
  • Engineering के कुछ Department में से chemical engineering भी एक ऐसा विभाग है जिसकी पढ़ाई करने के बाद आप लगभग हर तरह की कंपनी में Job कर सकते हैं।
  • केमिकल इंजिनियर course को करने के बाद आप विभिन्न कॉलेज में professor के लिए भी आवेदन कर सकते हैं।

इसी के साथ आपको Abroad में भी काफी अच्छा scope chemical engineering के बाद मिलता है Salary भी बहुत अच्छी मिलती है

What Are The Subjects in Chemical Engineering Course?

यहां हम आपको कुछ chemical engineering Subject कि List देंगे जो आपको आपके लीये केमिकल इंजीनियर के लीये Best Subject चुनने में सहायता करेंगे।

Core Subjects में यह मुख्य विषय शामिल है:-

  • Thermodynamics
  • Biochemical Engineering
  • High Polymer Engineering
  • Biochemical Engineering
  • Environmental Engineering
  • Safety Engineering
  • Fluid Mechanics
  • Process Instrumentation
  • Material Science and Engineering

Electives Subjects में यह विषय शामिल है:-

  • Food Technology
  • Ceramic Technology
  • Computational Fluid Dynamics
  • Water Treatment Technology
  • Surface Coating
  • Bio-nanotechnology
  • Rubber Technology
  • Industrial Pollution Control

अब समय है यह देखने का की आपको केमिकल इंजीनियरिंग की study कहा से करनी चाहिए? क्या इसके लिए कोई criteria रखा गया है?

Where to study Chemical Engineering?

आप जिस राज्य या देश से है आप वहा की Universities में अपनी chemical engineering की पढ़ाई पूरी कर सकते है।

इसके अलावा आप Foreign  में जाकर पढ़ाई करना चाहते हो, तो आपकी गुणवत्ता के अनुसार आप वहां भी डिग्री ले सकते हो और इसकी जानकारी आपको आगे मिलेगी।

यह प्रमुख देश chemical engineering study के लिए सबसे बेस्ट है।

  • The United States of America,
  • United Kingdome,
  • Switzerland
  • Germany
  • Russia,
  • Belgium,
  • Finland.

यह सभी देश में केमिकल इंजिनियर की पढाई करने के लिए बहुत अच्छे है लेकिन इसके लिए खर्चा बहुत आता है। यदि होनहार Student होता है तो वह यहाँ से लाभ पा सकता है।

What is the Best College for Chemical Engineering Admission?

हम कुछ देश- विदेश के best chemical engineering college की सूची आपसे साझा करेंगे।

  • Massachusetts Institute of Technology.
  • California Institute of Technology.
  • University of California–Berkeley.
  • Georgia Institute of Technology.
  • Stanford University.
  • University of Minnesota–Twin Cities.
  • University of Texas
  • Austin(Cockrell)
  • IIT Bombay – Indian Institute of Technology.
  • MIT Manipal – Manipal
  • Institute of Technology SRM
  • University Chennai – SRM
  • Institute of Science and Technology.
  • DSCE Bangalore
  • Dayananda Sagar College of Engineering.
  • VIT Vellore – Vellore Institute of Technology.
  • National Institute of Technology, Surathkal
  • University of Delaware
  • Princeton university.

दुनिया भर में अनेको Colleges और Universities है जहा से Candidates अपनी केमिकल इंजीनियरिंग की पढाई कर सकते है।

ध्यान रहे सबसे जरुरी है Government Approved और Recognized Institutions से ही केमिकल इंजिनियर बनना सफलता होगी वरना सफलता नहीं मिलेगी।

Chemical Engineering Ke Bad Job कौनसे है?

आपको chemical engineering के बाद बहुत अच्छे job मिलती है। यह एक ऐसी नौकरी है जिसकी demand दिन पर दिन बढ़ती जा रही है और आप इस क्षेत्र की पढ़ाई करके किस विभाग में नौकरी कर सकते हैं इसके बारे में संक्षिप्त परिचय नीचे दिया गया है –

  • भारत में कुछ सरकारी कंपनियां है जहां हर साल सरकार की ओर से chemical engineer की नियुक्ति के लिए फॉर्म निकाला जाता है जिस पर आवेदन करके आप engineer के post पर काम कर सकते हैं।
  • आप किसी Chemical manufacturing company में engineer की नौकरी कर सकते है।
  • Processing, printing, automobile जैसे Field में भी chemical engineer की काफी मांग है, तो आप उन कंपनियों में भी आवेदन कर सकते है।
  • Fertilizer and food industry में भी आप engineer के पद पर काम कर सकते है।
  • आप भारत के किसी मान्यता प्राप्त college या university में chemical engineering के professor की नौकरी भी मील सकते हैं।

इसके अलावा उमीदवार भी खुद अपने experience के बाद कुछ नया कर सकता है इतना इस कोर्स का फायदा होता है इसीलिए केमिकल इंजिनियर बहुत ज्यादा famous होता जा रहा है।

Chemical Engineering के बाद कितनी सैलरी मिलती है।

Chemical engineering यह एक प्रकार का educational course है जिसमें पढाई के बाद अपने मन अनुसार की नौकरी मिल सकती है।

उस नौकरी में आप को तनख्वाह कितनी मिलेगी या आपके interview और exam के साथ-साथ अपने कहां से engineering की है और आपको कितना अनुभव है इस बात पर भी निर्भर करता है।

अगर आप तनख्वाह जानना चाहते हैं तो अनुमान के तौर पर अगर आप किसी अच्छे college से engineering करते हैं और आपके campus placement में भारत की कोई नामी कंपनी है आपको नौकरी मिलती है तो आमतौर पर आपकी तनख्वाह 10 लाख से 12 लाख सालाना तक होगी।

Chemical engineering क्या होता है?

Chemical engineering एक खास किस्म की पढ़ाई है जिसे आप 12वीं पास करने के बाद पढ़ सकते है।
केमिकल इंजीनियरिंग के फ़ील्ड में हमेशा के रोजमर्रा के जीवन में Use की जाने वाली चीजों में केमिकल का कितना योगदान है और उससे हम किस प्रकार की वस्तुएं बनाते है इसके बारे में संपूर्ण जानकारी दी जाती है।

केमिकल इंजीनियरिंग कौन कर सकता है?

यह course हर वह व्यक्ति कर सकता है जिसने अपनी 12वीं की पढ़ाई पूर्ण कर ली है। इसके अलावा Special criteria में उमीदवार भारतीय निवासी भी होना चाहिए।

Chemical Engineering के job कौन से है?

आपको executive chemical engineer, Project chemical engineer या फिर Engineer Professor जैसे पोस्ट पर Job मिलती है।

केमिकल इंजिनियर की Salary कितनी होती है?

एक chemical engineer की सैलरी 3 लाख से 5 लाख सालाना से शुरू होती है और अगर आप किसी अच्छी कंपनी में नौकरी पाते है तो यह तनख्वाह 10,00,000 सालाना भी हो सकती है।

केमिकल इंजीनियरिंग के बाद क्या करे?

इसमें भी बहुत जरुरी बात है जिसे की हर Field में Entrance exam और Experience बहुत मायने रखता है। उसी प्रकार से इसमें भी ख़ास बात ध्यान रखनी होगी।
आपकी chemical engineering की पूरी पढ़ाई होने के बाद आपको License लेना बहुत जरूरी है जैसे आप कोई भी chemical engineering से जुड़े काम चालू कर सके। हालांकि कुछ पदों के लिए license की जरूरत नही होती।
जैसे कि सभी क्षेत्र में आपसे experience माँगा जाता है वैसे ही आपसे chemical engineering के field में भी engineering पदों के practical experience  माँगा जाता है और इसके लिए आपको internship करना जरूरी है।

कैरियर के दृष्टि से देखा जाए तो जिसमे आपकी रुचि है और जो करने में आपको सबसे ज्यादा खुशी मिलती है उसी को Carrier की तरह अगर चुनते है, तो आपको उसमे सफलता मिलना आसान होता है।

इसलिए हमने इस पोस्ट के माध्यम से आपको केमिकल इंजीनियरिंग क्या है और chemical engineer कैसे बने पूरी जानकारी देने की कोशिश की है ताकि जिस किसी भी विद्यार्थी को chemical engineering मे career बनाना है उसे आवश्यक जानकारी मिल सके।

हमें बताये आपको Chemical engineering kya hai in hindi information से कौनसी जानकारी नहीं मिली क्या अब आप जानते है Chemical engineering mein kya hota hai और क्यों हमें केमिकल इंजिनियर बनना चाहिए? आपकी सफलता ही हमारी सफलता है।