इंजीनियरिंग मे BE Course क्या है? बीई करने के फायदे क्या है? क्या हमें पढाई करने से पहले बी ई की पूरी जानकारी हासिल कर लेनी चाहिए?

यदि आपका Decision सिर्फ time consume करना है तो जानकारी अधूरी भी रही तो भी फर्क नहीं पढ़ेगा। लेकिन जब समय निकल जायेगा तो माथा पटकने के सिवाय कोई रास्ता नहीं होगा।

BE Course Admission Details

Proffessional Courses के लिए Study करना बहुत प्रचलित है because यही समय होता है जब अपने feature के Decide करने का समय होता है। क्या आपने BE Degree Course के बारे मे सुना है?

यदि इस समय पर लिया गया Decision गलत हो जाये तो पुरे भविष्य को नुकसान हो जाता है। इसी लिए education करने के लिए।

What Is BE Course In Hindi?

यह एक प्रकार का undergraduate Engineering degree course है। अगर आप engineering field में आगे बढ़ना चाहते हैं और अपने future को इस क्षेत्र में बेहतरीन बनाना चाहते हैं, तो इस course के जरिए बहुत से government या private dream job आसानी से पा सकते हैं।

यह course करीब 4 साल का होता है, जो अनेकों branch बंटा होता है जैसे- civil, electronic, mechanical, computer, science और IT इत्यादि इसी प्रकार के अन्य branch शामिल है बी ई कोर्स के लिए है। आप अपने special course को अपने पसंदीदा branch से कर सकते हैं।

BE admission की Process सभी कॉलेजों में अलग-अलग प्रकार से होती है, कुछ कॉलेजों में बीई कोर्स admission के लिए State leval पर होने वाले entrance exam को पास करना होता है।

इस entrance exam में अच्छे नंबरों से पास होने के बाद ही आपको BE course admission मिलता है। लेकिन कुछ कॉलेजों में admission bachelor of engineering courses के लिए मेरिट के आधार पर भी लिया जा सकता है।

BE Full form Hindi मे.

BE course full form सिर्फ दो शब्दों का संक्षिप्त रूप है “bachelor of engineering” यह है। बीई का फुल फॉर्म हिंदी में “बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग” कहलाता है अर्थात् be course means शिक्षा के क्षेत्र मे Engineering का Bachelor कोर्स होता है।

जो students इंजीनियरिंग में अपना career बनाने के लिए उत्सुक हैं वैसे candidates को किसी भी मान्यता प्राप्त विद्यालय से physics, chemistry, maths आदि इन सभी subjects के साथ 12वीं की परीक्षा में अच्छे number से उत्तीर्ण होना होगा।

इस प्रकार आप भी में BE में admission करवा सकते हैं और अपने मनपसंद ब्रांच से इस course को पूरा कर सकते हैं। इसके अलावा इस course को करने के लिए students को 12th में लगभग 60% से अधिक marks लाना होना होगा।

BE Admission Eligibility Criteria.

बीई के लिए candidate में कुछ खास eligibility का होना मुख्य रूप से आवश्यक है। यदि आप भी BE course eligibility के बारे में जानना चाहते है तो वह कुछ इस प्रकार से है –

इस course को आप तभी कर सकते हैं जब आपने अच्छे नंबरों से 10th में पास किया हो। साथ ही 12th पाठ्यक्रम में science विषय को शामिल करना होगा यानी कि engineer बनने के लिए आपको science field का चुनाव करना होगा।

सबसे पहले 12वीं की परीक्षा में विशेष रुप से physics, chemistry, maths को अपने पाठ्यक्रम में शामिल करना होगा।

12th के exam में आपको सभी विषयों में अपना अच्छा प्रदर्शन देना होगा यानी कि हर विषय में अच्छे अंक लाने होंगे नहीं तो आप इस कोर्स के लिए uneligible माने जाएंगे।

इसके अलावा state level का एक exam का clear करना होता है जिसके पश्चात आपका admission हो जाता है। इस कोर्स में प्रवेश के लिए उम्र सीमा निर्धारित की गई है।

आपकी उम्र 17 से 21 साल के बीच होनी चाहिए तभी आप इसमें दाखिला ले सकते हैं।

BE Course Fees Details.

अगर आप BE Admission Fees के बारे में जानना चाहते हैं तो हम बता दें कि यह University एवं College के आधार पर यह निर्भर किया जाता है।

यदि आप government college से Bachelor engineering course करना चाहते हैं तो आपको fees कम लगता है।

लेकिन वहीं अगर आप private college से यह बीई करना चाहते हैं तो government college की तुलना में यहां आपको ज्यादा प्रवेश शुल्क का भुगतान करना पड़ेगा यानी कि सभी कॉलेज और यूनिवर्सिटी में बी ई इंजीनियरिंग admission fees अलग-अलग होती है ।

Government College की बात की जाये तो बीई कोर्स एडमिशन शुल्क बहुत ही कम होता है। यह लगभग 5000/- से शुरू होकर रुपये 10 हजार तक होती पायी जाती है।

लेकिन यही दूसरी तरफ देखे private colleges में तो यह करीबन रूपए 30 हजार से शुरू होकर 2 लाख रूपए तक बीई engineering एडमिशन fees per annum तक देना पड़ सकता है।

लेकिन अगर आप scholarship के जरिए private college में admission करवाना चाहते हैं तो आपकी फीस में थोड़ी-सी कटौती हो सकती है वरना आपको पूरा fee जमा करना होगा।

BE Course Duration.

जैसा कि हमने पहले ही बताया इस कोर्स को करने में लगभग 4 साल लगते हैं यानी कि यह कोर्स पूरे 4 साल में अपने syllabus को पूरा करवाता है।

12वीं की परीक्षा के बाद candidates को entrance exam में अपना अच्छा performance देना होगा, क्योंकि जितना अच्छा आप perform करेंगे, उतने ही अच्छे college में दाखिला प्राप्त हो सकता है।

इसके साथ ही आपको यह एग्जाम national या state level पर पास करना अनिवार्य है।

BE Entrance Exam.

आज के समय में किसी भी बड़े कॉलेजों में कोई भी कोर्स करने के लिए प्रवेश परीक्षा को बहुत ही अनिवार्य कर दिया है अर्थात अगर आप कोई भी बड़ा कोर्स करना चाहते हैं तो entrance exam clear करना आवश्यक है।

Entrance exam में लाए गए नंबरों के आधार पर college में admission की प्रक्रिया पूरी होती है, चलिए जानते हैं उन entrance exam के बारे में जो इस कोर्स में प्रवेश के लिए आवश्यक है –

बीई इंजीनियरिंग के लिए योग्यता परीक्षाये.

  • AIEEE – All India Engineering entrance examination,
  • JEE Mains – Joint Entrance Exam Mains,
  • JEE Advance – Joint Entrance Exam Advance exam,
  • GCET – Goa common entrance text,
  • GATE – graduate aptitude taste in engineering,
  • UPSEE – Uttar Pradesh State Entrance Examination,
  • DUSEE – Delhi University Combined Entrance Examination,
  • REPT – Rajasthan Pre Engineering Test
  • GUJCEPT – Gujarat Common Entrance Test
  • BCECE – Bihar Combined Entrance Competitive Examination
  • IIT – JEE Indian Institute of Technology Joint Entrance Examination
  • CET – Common Entrance Test.

इसलिए जो भी BE course in india करना चाहते हैं उन्हें सबसे पहले BE entrance exam clear करने होंगे। तभी वह उमीदवार इस कोर्स के लिए eligible माने जाएंगे।

B.E Admission Process 2022.

यदि आपने उपरोक्त दिए गए अनुसार जिस state मे बैचलर ऑफ़ इंजीनियरिंग के लिए एडमिशन चाहिए वह योग्यता परीक्षा सफल कर ली है और सभी पात्रता मानदंड को भी पूरा करते है तो आप बी.ई.एडमिशन लिए eligible है।

योग्यता परीक्षा का rank card और सभी आवश्यक documents b.e.course admission के लिए अपने साथ एकत्र करे और दिए गए dates अनुसार application form apply करे state entrance exam official website पर।

हो सकता है कभी-कभी offline merit list के आधार पर संसथान मे ही एडमिशन कर दिया जाए तो वह कई प्रकार के फायदों से मुकर सकता है।

इसीलिए online application be course 2022 के लिए government approved admission process मे हिस्सा ले जिससे councelling rounds होंगे और उन्ही rounds से एडमिशन मिला तो सभी concessions के लाभ भी आरक्षण रखने वाले उमीदवारो को होंगे।

BE के बाद Career Scope कैसा है?

चाहे कोई भी छात्र या उमीदवार हो यदि वह शिक्षा के क्षेत्र मे कोई भी course मे एडमिशन पाना चाहता है तो उन्हें पहले कोर्स के complete होने के बाद career scope क्या होगा यह जानना बेहद जरूरी होता है।

यदि आप की अभिलाषा है इस बात को समजने की और आप इसके लिए उत्सुक भी है कि BE Course के बाद career scope kya hai तो आइए जानते हैं इससे जुड़ी पूरी जानकारी।

इस कोर्स को करने के पश्चात आपके सामने career के ढेर सारे option खुल जाएंगे क्योकि be engineering course है। इसलिए आपको सामने सबसे पहला option अपने क्षेत्र में एक विशेष इंजीनियरिंग के रूप में जाने जाएंगे।

जैसा कि इंजीनियरिंग एक advanced level का कोर्स है इसे करने के बाद आप software engineer, mechanical engineer, Tata scientist, concentration engineer, railway engineer, aeronautical Arctic तथा construction manager जैसे पोस्ट के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

लेकिन इसके लिए आवश्यक है कि आप जो भी skill सीखे हो उसमें आपको अच्छे से ‌ concetrait करना होगा। क्योंकि इंजीनियरिंग जॉब इस बात पर निर्भर करती है कि आपने engineering के किस विषय में specialisation किया है।

BE Course Salary Details.

अभी यदि आप जानना चाहते हैं कि BE Course करने के बाद salary कितनी प्राप्त होती है तो आइए बिना देर किए जानते हैं इस बारे में।

जैसा कि हमने पहले ही बताया है यह एक standard level का कोर्स है इसलिए इसकी सैलरी के लिए आपको सोचने की जरूरत नहीं है।

इसकी सैलरी BE में किये गए आपकी Specilization के विषयों पर निर्भर करता है। आप जिस प्रकार का क्षेत्र चुनते हैं उसी प्रकार आपकी सैलरी निर्धारित होती है।

इस कोर्स को करने के पश्चात आपकी शुरुआती सैलरी लगभग 1 लाख से अधिक ही होती है। लेकिन एक बात निश्चित है कि आपकी Salary धीरे-धीरे धीरे लगभग लाखों तक पहुंच जाएगी।

जिस प्रकार से इस फील्ड में आपका अनुभव बढ़ता जाता है वैसे ही आपकी सैलरी भी बढ़ती जाएगी। एक अच्छा bachelor of engineering किया हुआ उमीदवार करीब 6 लाख से अधिक per annum की बढ़िया सैलरी कमा सकता है।

Branches of BE Course List.

बी ई के अंदर आने वाले कई Branches है इसलिए भ्रमित नहीं होना है बल्कि जानकारी हासिल करे और अपने पसंद के अनुसार bachelor of engineering का कोर्स करने के लिए आगे बढे।

BE course Branches.

  • Civil Engineer,
  • Electrical Engineer,
  • Mechanical Engineer,
  • Mining Engineer,
  • Textile Engineer,
  • Aerospace Engineer,
  • Chemical Engineer,
  • Information Technology Automotive Engineer,
  • Computer Science and Engineer,
  • Electronics and Telecommunication Engineer.

यह सभी इंजीनियरिंग मे आने वाली मुख्य ब्रांच है.

बीई कोर्स एडमिशन को लेकर लोगो के प्रश्न.

बीई क्या और कैसे करे एडमिशन? क्या है फायदे इंजीनियरिंग करने के? कितने वर्ष का कोर्स होता है बैचलर ऑफ़ इंजीनियरिंग, After बीई कौनसे कोर्स करने चाहिए?

बी ई करने के क्या फायदे है, भारत के मुख्य इंजीनियरिंग कॉलेज कौनसे है? बी ई इंजीनियरिंग करने के लिए कौनसी योग्यता परिक्षाये होती है आदि के बारे मे आज भी सवाल पूछे जा रहे है जो इस प्रकार है।

BE Course Kya Hai?

बीई का मतलब है बॅचलर ऑफ इंजीनीरिंग यह कोई rocket science नही है सिर्फ engineering branches का एक कोर्स है.

BE kya Hai?

यह advance level का bachelor’s degree का एक engineering course है, जिसे करने के पश्चात आप एक इंजीनियर बन सकते हैं। इस कोर्स को करने के लिए 10th और 12th में आपको अच्छे नंबरों से पास होना होगा।

BE Course करने के लिए कौनसी field मे आगे जाना होगा?

इस कोर्स को करने के लिए 10th के बाद आपको साइंस लेकर आगे की पढ़ाई जारी रखनी होगी तभी आप बीई इंजीनियरिंग कर सकते हैं।

बीई करने मे कितना टाइम लगता है?

लगभग 4 सालों में इसके सभी पाठ्यक्रम को cover कराया जाता है यानी कि bachelor of engineering को करने में आपको पुरे 4 साल का समय 8 semesters मे देना होता है।

What About BE Course Entrance exam क्या यह Important है?

हां, ऊपर दिए गए entrance exams के अनुसार जिस राज्य मे बी ई मे एडमिशन चाहिए वहा की एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने के पश्चात ही आपको इस course में admission मिलेगा क्योंकि अभी किसी भी कोर्स में एडमिशन के लिए entrance exam का रैंक देखा जा रहा है।

BE Course Subjects कौनसे होते है?

बी ई कोर्स के लिए निचे दिए गए subjects पर syllabus होता है:-

1. Advanced Calculus and Numerical Methods
2. Basic Electronics
3. Basic Ethics and Laws
4. Basic Electrical Engineering
5. C Programming
6. Calculus of Linear Algebra
7. Elements of Mechanical Engineering
8. Elements of Civil Engineering & Mechanics
9. Engineering Chemistry
10. Engineering Physics
11. Engineering Graphics
12. Environmental Science
13. Technical English

क्या BE course के लिए Age factor depend करता है?

हां, क्योंकि इस कोर्स में admission के लिए आपकी उम्र 17 से 21 साल के बीच होनी चाहिए अन्यथा उम्र कम या अधिक होने पर आप इस कोर्स के लिए select नहीं हो पाएंगे।

After BE mechanical engineering which course is the Best?

बीई के Mechanical engineering के बाद कई courses हई जो किये जा सकते हई और अच्छे भी है जिनके नाम निचे दिए गए है.

टूल डिजाइन में मास्टर ऑफ इंजीनियरिंग, पाइपिंग डिजाइन और इंजीनियरिंग कोर्स, व्यवसाय प्रशासन में परास्नातक, मैकेनिकल इंजीनियरिंग में एम.टेक, रोबोटिक्स कोर्स, मेक्ट्रोनिक्स कोर्स, नैनो टेक्नोलॉजी, सॉफ्टवेयर परामर्श, 3डी मॉडलिंग और ड्राफ्टिंग, सीएई अनॅलिसिस आदि.

Indian Top 10 Engineering Colleges कौनसे है?

भारत के 10 सर्वश्रेष्ट बीई इंजीनीरिंग colleges की list हमने निचे add की है. यह हर वर्ष रंकिंग के आधार पर बदलते रहते है. यदि हम बात करें Indian Top 10 Engineering Colleges की तो India में कई ऐसे प्रमुख Universities है जहां से आप बीई कर सकते हैं।

1. IIT Roorkee
2. Indian Institute of Technology Madras
3. National Institute of Technology Tiruchirappalli
4. Indian Institute of Technology Bombay
5. Indian Institute of Technology Delhi
6. Indian Institute of Technology Kanpur
7. Indian Institute of Technology Kharagpur
8. Indian Institute of Technology Hyderabad
9. Indian Institute of Technology Guwahati
10. Indian Institute of Technology Indore

Benefits of BE course.

इस कोर्स को पूरा करने के पश्चात आपके पास graduation की डिग्री होती है। इसके अलावा आपके पास engineering field से related skill, knowledge  और experience  होता है । जिससे आप आगे चलकर इस क्षेत्र में अपना अच्छा भविष्य बना सकते हैं ।

इसके अलावा जैसे-जैसे आपका अनुभव बढ़ता जाएगा, आप खुद की एकेडमी खोल सकते हैं और मनचाही सैलरी approach कर सकते हैं।

बीई और be it course मे क्या फर्क है?

फर्क कोई नहीं है बल्कि यह लोगो की seraches है IT यह information technology की field है. हा लेकिन BE और B.tech मे फर्क जरुर है.

क्या अभी भी आपको be course details मे किसी जानकारी की आवश्यकता है? हमसे जरुर share करे कौनसी जानकारी आपको चाहिए bachelor of engineering course के बारे मे। हमने सभी b.e course details in hindi / बीई कोर्स की जानकारी hindi मे share की है अब आपकी बारी है इसे जनजन तक पहुचाने की कृपया sharing जरुर करे social एकाउंट्स पर.