Advance EPF Withdrawal के लिए १० जरुरी बाते जो हर PF Members को पता होनी चाहिए.

प्रिय पाठक, स्वागत है आपका EPF Withdrawal के 10 जरुरी रूल्स इस पोस्ट पर. हर EPF Employee Retirement के समय ईपीएफ या Employee Provident Fund को वापस लेना चाहता है और वह इसके लिए समय रहते जानकारी भी हासिल करना शुरू कर देते है. यही Financial Planners का भी कहना है। EPFO जिसे Employees Provident Fund Organization भी कहा जाता है इस आर्गेनाइजेशन ने कई नयी पहल शुरू की हैं।10 Partial EPF Withdrawal Rules In Hindi

EPFO Member Portal द्वारा PF Website पर लॉग इन करने पर और “Online Services” Tab पर क्लीक करने के बाद ईपीएफओ के “One Member – One EPF Account” सुविधा का लाभ इपीएफ मेम्बर्स द्वारा लिया जा सकता है। इतना ही नही अब हर मेंबर के लिए कुछ कंडीशन पर PF Transfer भी आसान बना दिया गया है।

> Read – PF Complaints Register कैसे करते है- Grievance Registration कैसे करे

ईपीएफओ मेंबर को पता होना चाहिए की कुछ जरुरी मामलों में ईपीएफ खाते मे जमा राशी से Advance EPF Loan Rules के मुताबिक ले सकता है. उन सभी Specific Reasons को निचे दिए गया है जिन्हें आपको नोटिस करना चाहिए।

  • PF Withdrawal For Marriage,
  • PF Withdrawal For House Renovation /Purchase New House,
  • अपने बेटे या बेटी की शादी पर,
  • Repayment of Loan,
  • किसी भी फॅमिली मेम्बर के Medical Treatment के लिए.

इस प्रकार से अब आपको यह जानकारी हो चुकी होगी की EPF Withdrawal किस समय मे किया जा सकता है. लेकिन EPF Online Amount निकालने के बारे में 10 चीजें भी आपको पता होनी चाहिए तभी आप अपने पीएफ का पैसा ऊपर दिए गए कारणों की वजह से निकाल सकते है।

Online EPF Withdrawal के लिए 10 जरुरी बाते।

Partial EPF Withdrawal से पहले सभी मेंबर्स अपनी PF Loan Eligibility Details चेक कर ले. अगर आपको इसके बेसिक रूल्स नही पता है तो निचे दिए गए पॉइंट्स को ध्यानसे ।10 Partial EPF Withdrawal Rules

  1. यदि EPFO Subscriber ने अपने Employee Provident Fun या ईपीएफ के लिए पांच साल से अधिक समय तक PF Contribution जमा किया है और नियमित योगदान दिया है, तो EPF Withdrawal करने पर प्राप्त उस अमाउंट पर Income Tax Department द्वारा छूट दी गई है मतलब इसपर कोई टैक्स नही है बिलकुल टैक्सफ्री होगा।
  2. अगर किसी Employee को कुछ Certain Reasons की वजह से Job या Service से Terminate कर दिया गया है, जैसे कि Employer के सर्विस के दौरान खराब स्वास्थ्य और असंतोष की वजह से तो इसे समय मे किया गया EPF Withdrawal टैक्स फ्री होगा भलेही एम्प्लोयी के  वापसी पर उसके सर्विस के ज्यादा साल ही क्यों न हो।
  3. अभी मौजूदा EPF Withdrawal Rules के मुताबिक, दो महीने तक बेरोजगार रहने के बाद कोई भी इपीएफ मेम्बर अपना EPF Balance ले सकता है। Difference Employers के साथ Employment के मामले में यदि Old Employer के साथ PF Balance को बनाए रखा गया है, तो New Employer PF Account में EPF Withdrawal ट्रान्सफर किया जाता है। इसे Continues Employment पर Consider किया जाता है.
  4. इस प्रकार पी एफ़ अमाउंट अगले Assessment Year के लिए आपकी Tax Return में दिखायी जानी चाहिए। PF और EPF Contribution तथा उस पर एम्प्लायर का EPF Interest पहले इनकम मे जोड़ा जाता है उसके बाद उसके अनुसार टैक्स लगाया जाता है।
  5. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के नए नियम अनुसार ट्रिब्यूनल द्वारा हाल में एक फैसले ने एक कानून को बरकरार रखा है जिसमें कहा गया है कि आपके जॉब या काम छोड़ने के बाद आपके ईपीएफ या कर्मचारी प्रॉविडेंट खाते में जमा ब्याज कर योग्य है।> Read – ऑनलाइन इपीएफ अमाउंट कैसे और कब निकाल सकते है जानिए पूरी जानकारी.
  6. इन केस पांच साल से पहले EPF Withdrawal का मामला सामने आता है तो उस मामले में वह अमाउंट उसी Financial Year में कर योग्य होती है।
  7. इसके अतिरिक्त यदि आपने अपने खुद के PF Contribution पर Section 80C के तहत Benefit Claim किया है, तो उसे वेतन के रूप में टैक्स लगाया जाएगा। अपने स्वयं के पी एफ कॉन्ट्रिब्यूशन पर अर्जित ब्याज को Income From Other Source के रूप में टैक्स लगाया जाएगा और संबंधित Tax Slab के अनुसार कर लगाया जाएगा।
  8. Partial EPF Withdraw के मामले मे ईपीएफओ मेम्बर पहले से जमा पी एफ अमाउंट एडवांस निकाल सकते है जो जिसमे नया घर खरीदना, घर का Construction करना, Loan Repayment, खुद की या अपने परिवार के भाई, बेटा, बेटी की शादी पर या फिर Medical Treatment लिए इ.पी.एफ. एडवांस ले सकते हैं।
  9. हर प्रकार के Partial Withdrawal या / अग्रिम के लिए, परिवार के सदस्य आदि का इलाज करने के लिए इनकी अमाउंट अलग अलग होती है। तथा कर्मचारी को अग्रिम के लिए योग्य होने के लिए Specific PF Criteria को पूरा करने की आवश्यकता होती है। कोई भी मेम्बर EPFO Member Portal के माध्यम से PF Advance या आप Partial EPF Withdrawal भी कह सकते है Online Apply कर सकते है।
  10. इसका मतलब है कि यदि आप नौकरी छोड़ने के बाद Withdrawal मे देरी करते है तो इसके बाद अर्जित ब्याज कर लगाया जाएगा।

> Read – इपीएफ अकाउंट नाम और Personal Details Correction कैसे करते है?
> Read – ऑनलाइन इपीएफ अमाउंट कैसे और कब निकाल सकते है जानिए पूरी जानकारी.

इस प्रकार से अब आप जान गए होंगे की Partial EPF Withdrawal Rules क्या है। आशा करते है एडवांस पीएफ निकालने के लिए Pf Claim से जरुरी रूल्स का यह आर्टिकल आपको पसंद आया होगा। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी होगी तो इसे सोशल मीडिया मे जरुर शेयर करे. इसी प्रकार की EPFO Portal से जुडी जानकारी के लिए ब्लॉग को सब्सक्राइब जरुर करे.

****************

अमेजिंग ! धन्यवाद आपको यह पोस्ट पसंद आयी!

HindiMePadhe.com वेबसाइट को इतना प्यार देने के लिए आपका दिल से शुक्रिया. एसीही Blogging, Education, EPFO, Hindi Story और Banking सेक्टर से जुडी हर नयी पोस्ट के अपडेट आपके ईमेल इनबॉक्स मे पाने के लिए ब्लॉग को यहा से फ्री मे सब्सक्राइब करे.

Comments

  1. By Sumit kumar gupta

    Reply

  2. By sandeep batham

    Reply

    • Reply

  3. By sandeep batham

    Reply

  4. By Rajendra

    Reply

    • Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *