लिंकन का भूत एक रहस्यमयी भूत प्रेत आत्माओ की सच्ची घटना ! अमरीकी वाइट हाउस के भुत की घटनाये.

आज की भूत प्रेत आत्माए की कहानी है लिंकन का भूत. कई बार कुछ घटनाएं अविश्वसनीय होते हुए भी अत्यंत रोमांचक , विस्मयकारी और अटल सत्य होती है. विश्व के सबसे शक्तिशाली , समृद्ध और विकसित देश अमरीका में माना जाता है की भूत प्रेतों का अस्तित्व होता ही नही.

मगर उनकी इस धारणा को चुनौती देने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपतियों का सरकारी आवास व्हाइट हाउस (United State White House) ही बहुत है. वहा कम से कम सात भूत हमेशा से रहते आये है.

लिंकन का भूत एक रहस्यमयी भूत प्रेत आत्माओ की Horror Story

लिंकन का भूत एक रहस्यमयी भूत प्रेत आत्माओ की Horror Story.

इन्हें कही विश्व – प्रसिद्धि हस्तियों ने देखा है .खुद कई अमरीकी राष्ट्रपति भी इनको कभी न कभी देख चुके हैं. सन 1965 में अमरीकी राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन की वाशिंगटन के एक नाट्यगृह में जॉन विल्कस बूथ ने गोली मारकर हत्या कर दी थी.

उनका ताबुद एक विशेष रेलगाड़ी में रखकर आम जनता के दर्शकों के लिए अमेरिका के समस्त प्रमुख नगरों से गुजारा गया. वह रेल हरेक स्टेशन पर कुल आठ मिनट तक रुकती थी.

रेल शवयात्रा के पश्यात रात को नो बजे के आस पास पूरे अमेरिका में, उन सभी स्टेशनों से होकर गुजरती काले रंग की एक दूसरी रेलगाड़ी भी देखी गयी. उसमे भी लिंकन का ताबूत बखूबी दिखाई दे रहा था. रेल के उन डिब्बो में लिंकन के ताबुद के पीछे वाला डिब्बा बड़ा ही अजीब था.

लाखो लोगो ने देखा, उस डिब्बे में कई कंकाल विभिन्न वाद्ययंत्र बजा रहे थे , उनकी धुनें ऐसी थी कि अच्छे – अछो के दिल हलक को आ गए.
जितने भी स्टेशनों से यह ट्रेन गुजरी , वहां घड़ियां आठ मिनट तक रुकी रही. इस घटना के बाद से अमेरिकी राष्ट्रपतियों के सरकारी आवास में प्रत्येक खास मौके पर मृत राष्ट्रपति लिंकन का भूत दृष्टिगोचर होता है.

> जरुर पढ़े – भुतहा जहाज सच तो है लेकिन सपना ही क्यों दिखता है ?

उसे संसार के महानतम राजनीतिदनों, शासनाध्यक्षो और कही अमरीकी राष्ट्रपतियों तथा उनके परिवारों ने खुद देखा अथवा महसूस किया. राष्ट्रपति बैंजामिन हैरिसन के कार्यालय में सन 1889 ई. की बात है. हैरिसन एक दौरे पर टेक्सास जाना चाहते थे. उन्होंने निजी अंगरक्षक जॉन केनी को तैयार होने का आदेश दिया.

वह बेचारा अपना रिवाल्वर साफ कर रहा था. तभी उसे निजी कक्ष के मुख्यद्रवार पर एक व्यक्ति खड़ा दिखा. केनी ने समझा की राष्ट्रपति का बुलावा होगा. मगर इससे पूर्व की केनी उससे कुछ पूछता वह व्यक्ति अपना काला कोट संभलता हुवा, एक दिवार में समाकर गायब हो गया. केनी ने स्पष्ट देखा, वह राष्ट्रपति लिंकन का भूत था.

सन 1890 ई से सन 1893 के बीच केनी ने कम से कम 33 बार लिंकन का भूत देखा. वह केनी को बड़ी नाराज निगाहों से देखता था. केनी इससे पूर्व लिंकन का अंगरक्षक था. मालूम पड़ता है लिंकन अपनी अकाल मृत्यु का दोषी अपने अंगरक्षक केनी की लापरवाही को मानते थे.
खैर, सन 1894 में केनी का धैर्य जबाब दे गया.

उसने बाल्टीमोर प्रांत में एक विशेष सभा में प्रेत विशेषज्ञो की सहायता से लिंकन की आत्मा का आह्वान किया. उस अवसर पर केनी को यह विनती करते सुना गया,”कृपा करके मुझे छोड़ दे, श्रीमान लिंकन में अब राष्ट्र्पति बेंजामिन हैरिसन की प्राण रक्षा कर रहा हु.”
उसके पश्चात् लिंकन की आत्मा या भुत ने केनी को तो कभी परेशान नही किया, लेकिन अपने प्रिय शयनकक्ष को लिंकन ने सन 1940 ई तक नही छोड़ा.

सन 1934 ई में राष्ट्र्पति फ्रेंकलिन रुझवेल्ट ने यह तय किया कि वे दूसरी मंजिल पर मौजूद शयनकक्ष में सोया करेंगे. इसके लिये व्हाइट हाउस की सुपरवाइजर मेरी एबैन को कक्ष साफ करने के लिये चार नौकरों के साथ भेजा गया. थोड़ी देर बाद कक्ष से सभी चीखते चिल्लाते वापस लौट आये.

मेरी ने बताया कि कक्ष में घुसते ही वे आश्चर्यचकित रह गया. वहा तो लिंकन सामने बैठे दिख रहे थे. उन्होंने काला कोट पहना हुवा था और नीचे झुक कर जुते के फीते बान्ध रहे थे. यह देखकर वह सब डर गये और वापस लौट आये. इससे पहले की वो लोग कुछ बोलते,लिंकन का भूत वहा से गायब भी हो गया.

रुझवेल्ट ने इस घटना का यह अर्थ लगाया कि लिंकन को अपने कक्ष से बहत लगाव हो गया था. वह फिर उस कक्ष में नही सोये
परंतु अगले ही दिन उसी कक्ष की सफाई वगैरे कराने के आदेश उन्होंने दिये.

एक बार रेडियो को दिये साक्षात्कार में रुझवेल्ट ने बताया कि वह अपने कुर्सी में बैठे सोच रहे थे.तभी उन्होंने लिंकन के भूत को एक तस्वीर के पृष्ठभाग से निकल कर एक अलमारी में समाते देखा. बाद में राष्ट्र्पति रुझवेल्ट को राष्ट्र्पति भवन के विविध कक्षो तथा हॉलो में लिंकन का भूत टहलता दिखायी दिया.

उन्होंने बताया कि लिंकन का भूत शांत, संयत और रौबदाब वाला है. लेकिन वह न जाने क्यो दुःखी सा दिखाई देता है. सन 1945 ई में राष्ट्रपति रुझवेल्ट की रहस्यमय हालातों में मृत्यु हो गयी. उससे पहले भी कम से कम दो बार उनको लिंकन का भूत दिखाई दिया था.

प्रत्येक वर्ष अप्रैल के महीने में लिंकन का भूत Wight House में अवश्य दिखाई देता है. यही वह महीना था, जब उनकी हत्या हुई थी.
लिंकन का भूत देखकर एक बार Britten Prime Minister सर विंस्टन चर्चिल तो बौखलाकर अपने शयनकक्ष से ही निकल भागे थे. उन्हें दुसरी मंजिल में लिंकन के कक्ष में सुला दिया गया था.

नीदरलैंड की महारानी विल्हेमिया को अमेरिका प्रवास के दौरान व्हाइट हाउस के रोजरुम में ठहराया गया था. उसी अवसर पर उनके दरवाजे पर रात्री में खटखटाहट हुई. उन्होंने सोचा कि कोई विशेष संदेश लेकर कोई नौकर आया होगा. उन्होंने दरवाजा खोलकर देखा. बाहर लिंकन का भूत खडा था.

लिंकन का भूत एक रहस्यमयी भूत प्रेत आत्माओ की Horror Story

लिंकन का भूत एक रहस्यमयी भूत प्रेत आत्माओ की Horror Story

महारानी को सदमे में डूबता देखकर लिंकन ने परेशान चेहरा बनाया और गायब हो गये. राष्ट्रपति ट्रूमेन के समय में परमाणु बम का विकास किया गया था. उन्होंने भी एक बार अपने कक्ष के बाहर लिंकन का भूत देखा था. वह बात ट्रूमेन ने समाचार पत्र वालो को भी बतायी थी.
लिंकन के भूत की उपस्थिती का राष्ट्र्पति आइजनहावर को भी की बार आभास हुवा.

द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान सन 1945 ई में जापान पर अनुबंब गिराने जाने के बाद लिंकन का भूत कई रातों को लगातार दिखाई दिए गए थे. ये बाते चिंतितं करने वाली थी सन 1950 के बाद से लिंकन का भूत दिखना आमतौर पे बंद हो गया था. लेकिन पूर्व राष्ट्रपति केनेडी ने अपनी हत्या के कुछ दिन पहले उसे देखा था. उन्होंने यह मजाक भी किया था कि लगता है मुझ पर भी गोलियां दागी जायेगी.

मरने से पूर्व स्वयं लिंकन ने व्हाइट हाउस में कई बार भूतों को देखा था. लिंकन का मृत साला अलेन्सेन्डेर भी वहा अक्सर दिखाई दिया करता था. राष्ट्रपति क्लीवलैंड की पत्नी को इस भवन में जन्मे अपने बेटे से बहुत प्यार था. वह राष्ट्रपति भवन में ही अकाल मृत्यु का शिकार हो गया था. वह भी कई अवसरो पर लोगों को दिखाई दिया.

व्हाइट हाउस में लगे गुलाब के फूलों की क्यारी का स्थान राष्ट्रपति विल्सन की पत्नी को पसंद नही था. उन्होंने स्थान परिवर्तन की सोची ये गुलाब पूर्व राष्ट्र्पति मैडिसन की पत्नी ने लगाये थे. अंतिम समय तक उन्हें गुलाबो की बहुत चिंता थी.

जब श्रीमती विल्सन के आदेश पर माली गुलाबों की क्यारी को खोदने हेतु गया, तो वहा श्रीमती मेडिसन का भूत एकाकेक प्रकट होकर बोला,”खबरदार जो हाथ लगाया”.

जब श्रीमती विल्सन को यह पता चला तो उन्होंने इसे माली की कामचोरी और उसका बहाना मानकर स्वयं क्यारी खोदने का इरादा बनाया. वह बगीचे में गयी, तो खुद उन्होंने देखा कि श्रीमती मैडिसन एक क्यारी में खड़ी थी.

राष्ट्र्पति एडम्स की पत्नी का भूत भी व्हाइट हाउस में तीन अवसरो पर देखा गया.वह एक बार कपड़े सुखाने की जगह और दो बार लाइब्रेरी में कुछ तलाशता हुवा मिला.

एक अज्ञात कर्मचारी का भूत भी व्हाइट हाउस की रसोई में अक्सर दिखाई देता रहा है. मगर उसे महिला कर्मचारियो के अतिरिक्त किसी ने नही देखा.

> जरुर पढ़े –  राज खोलता भुत Real Horror Stories का खजाना.
> जरुर पढ़े – दिल दहला देने वाली भूत प्रेत की सच्ची घटनाये !
> जरुर पढ़े –  प्राचीन कालीन भूतहा खोपड़ियो का रहस्य.
> जरुर पढ़े – विंडसर महल मे रहने वाले 25 शाही भूत की कहानी .
> जरुर पढ़े – 8 Real Scary Stories जिसमे भूत प्रेत होने का दावा किया गया है.

राष्ट्र्पति हार्डिंग का भूत एक ही बार दृष्टिगोचर हुवा,वह भी तब जब उनकी एक तस्वीर मौके से हटाकर शीशा बदलकर ले जायी जा रही थी. अब सभी मानते है की हा लिंकन का भूत सच में दिखाई देता है. बड़ी अजब भुत प्रेत आत्मा की घटना अक्सर होती रहती है जो किसी Horror से कम नहीं होती.

***************

Waw ! Love This Post!

If You Like This Article Please Subscribe And Share On Social Media.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *