SEO Search Engine Optimazation Kya Haiजब कोइ ब्लोगर एक नया ब्लॉग बनाता है तो  उस ब्लॉग के लिए सर्च इंजन में वृद्धि की बात सामने आती है, अगर SEO जिसे संक्षिप्त रूप में Search Engine Optimization भी कहा जाता है स्टेप बाय स्टेप सही से ना कीया जाये तो उस नए ब्लॉग को नए विजिटर ज्यादा मिल नहीं पाते वह अच्छे से सर्च इंजन में आ नहीं पाता. अगर और कुछ विजिटर आये भी तो  उस ब्लॉग का बाउंस रेट बढ़ जाता है. seo website के लिए काफी महत्वपूर्ण है जब तक आपके ब्लॉग के सभी पोस्ट या पेज सही तरीके से seo optimized नहीं होंगे गूगल में रैंक करना संभव नहीं होता है.

Search Engine Optimization Importance.

अक्सर यह देखा गया है की यदि नए ब्लोगर्स एक निपुण केंद्रीकृत एसईओ सलाहकार की सलाह को स्वीकार नहीं करते हैं, अगर आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट का सही से seo नहीं कर सकते जिसकी आपको जानकारी नहीं है तो आप search engine optimization services की मदत ले सकते है. अगर नए ब्लोगर खुद भी कुछ नहीं करते और seo expert की भी सलाह नहीं लेते तो वह कुछ नहीं कर पाएंगे. कुछ दिन में उने ब्लॉग बंद करना पड़ता है.

हमारा मकसद आपको डराना बिलकुल भी नहीं हा कोई कभी जन्म से सिख कर नहीं आता है. हम यह भी जानते है की किसी भी नए ब्लोगर को search engine optimization cost को afford कर पाना संभव नहीं है. लेकिन अगर आप Search Engine Optimization के बारे में किसी ब्लॉग पर seo articles भी नहीं पड़ेंगे, किसी ब्लोगर्स या Search engine optimization specialist से भी नहीं सिखते है तो आपके ब्लॉग को ट्रैफिक से हात जरुर धोना पढ़ सकता है. कभी कभी तो बिना seo के भी आपके यूनिक पोस्ट गूगल के पहले पन्ने पर रैंक कर जाते है. लेकिन यह बहुत कम मामले में होता है.

> Read – Blogger Par Custom Domain Name Setup Kaise Kare Step By Step Full Guide.

यदि आप Search Engine Optimization के बारे में ऑनलाइन खोजते हैं और Google में अपनी रैंकिंग सुधारने के लिए स्टेप बाय स्टेप seo optimization प्रोसेस की तलाश में रहते हैं, तो शुरुआती के लिए यह विस्तारसे seo प्रक्रिया है. Google में पहले पन्ने के शीर्ष में  रैंकिंग प्राप्त करना तब तक असंभव होगा जब तक की आप उचित और साफ़ एसईओ प्रक्रिया का पालन नहीं करते. कई नए ब्लोगेर रैंकिंग में ब्लॉग को लेन के कारण गलत रणनीति अपनाते है और असल SEO हासिल करने में विफल रहते है. तो क्या होता Search Engine Optimazation और उसकी प्रक्रिया जाने विस्तार से.

GOOGLE सर्च अब अधिक होशियार बन रहा है.

एसईओ उद्योग में होने वाली नवीनतम चीजों के बारे में अपडेट किए जाने वाले खोज इंजन अनुकूलन हर दिन बहुत मुश्किल होता जा रहा है. Google द्वारा अपने खोज एल्गोरिथम में किए गए हालिया परिवर्तनों के कारण, एसईओ करना बहुत से लोगों के लिए बहुत कठिन और मुश्किल हो रहा है, जो Google दिशानिर्देशों का पालन नहीं कर रहे हैं, जो अपने ज्ञान को अपडेट नहीं कर रहे हैं और जो अभी भी सोचते हैं कि बिना SEO सीखना पर्याप्त है तो यह आपके ब्लॉग के लिए ठीक नहीं है.

आज, हम कुछ सरल बाते आपको search engine optimization के बारे में आपको बतायेंगे, जिसे आप फॉलो करके अपनी वेबसाइट को अच्छे से Wight hat SEO कर सकते है. अगर आप अच्छे सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन सलाहकार की फीस को अफ्फोर्ड नहीं कर सकते और आप SEO के बारे में जानने वाले सलाहकार को नियुक्त नहीं करते है तो आपको इसे ठीक से पढना होगा और समजना होगा.

क्यों SEO हर दिन बदल रहा है?

Google के पहले पृष्ठ पर वेबसाइट की रैंक प्राप्त करना भूतकाल में बहुत आसान था. कई लोग कीवर्ड को Title में जोड़ते हैं, कुछ Description में जोड़ते हैं, कॉपी करते हैं और सामग्री को संशोधित करते हैं तथा  Google में शीर्ष रैंकिंग प्राप्त करने के लिए सैकड़ों बैकलिंक्स का निर्माण करते हैं. अब चीजें बदल गई हैं Search Engine अब Black Hat seo तकनीकों को अपनाने वाले सभी वेबसाइटों के लिए काम नहीं करते है.

कुछ वेबसाइटों के लिए आप अस्थायी रैंकिंग प्राप्त कर सकते हैं, लेकिन जब Google आपकी वेबसाइट को देखेगा, तो आपकी रैंकिंग में सबसे अच्छी प्रथाओं का पालन नहीं किया जाएगा और आपकी वेबसाइट की रैंकिंग घट जाएगी. सबसे अधिक प्रासंगिक परिणाम देने के लिए Google अपने एल्गोरिदम को हमेशा अद्यतन व अपडेट करता रहता है. Google स्पैम से लड़ने और सबसे प्रासंगिक परिणामों को वितरित करने के लिए अपने खोज एल्गोरिदम को हमेशा ही अद्यतन व अपडेट  करता है. Google हर कुछ महीनों में अपने एल्गोरिदम अपडेट करता है यदि आप Google एल्गोरिदम के पूर्ण इतिहास को जानना चाहते हैं तो आप Google Algorithms गूगल पर  देख सकते हैं।

> Read – WordPress वेबसाइट पर Themes और Plugins कैसे इनस्टॉल करे

SEO Search Engine Optimazation Kya HaiSeo- Search Engine Optimization Kya Hai?

Search Engine Optimization में निचे बताये गए स्टेप्स होते है जिनपर हर ब्लोगर को ध्यान से वर्क करना होता है. website search engine optimization करने में निचे दिए गए पॉइंट्स पर खास ध्यान रखना होता है.

  • Keyword Research.
  • Onpage Optimization.
  • Offpage Optimization.
  • Competion Website Analysis.
  • SEO Audit.
  • Regular Publish Post And Update Post.
  1. Keyword Research

Search engine Process हमारी वेबसाइट के लिए सबसे महत्वपूर्ण कीवर्ड की पहचान करने की एक प्रक्रिया है. Search engine Process के लिए Search engine टूल की आवश्यकता है जो हमारी वेबसाइट के लिए सबसे प्रासंगिक Search engine Result को ढूंढने में हमारी सहायता कर सकते हैं. Post में Keyword के लिए Google Keyword Planner सबसे बढ़िया Keyword Reserch Tool है.

  1. Competition Analysis (प्रतियोगिता विश्लेषण)

हमेशा किसी न किसी बड़ी वेबसाइट Competition Analysis करके प्रतियोगिता की पहचान करें. आप विभिन्न seo tools और Competition Analysis tools का उपयोग करके Competition Analysis कर सकते हैं.

  1. सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन ऑडिट

Search Engine Optimization Website Audit के लिए अपने वर्तमान वेबसाइट का ऑडिट करें और मौजूदा सर्च इंजन  के लिए वेबसाइट की रैंकिंग (यह आपको अपनी वेबसाइट पर सुधार के बारे में बताएगा) एसईओ ऑडिट करना एसईओ प्रक्रिया का बहुत बडा और महत्वपूर्ण हिस्सा है.

  1. ओन पेज सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन

सर्च इंजन की Search बढ़ाने के लिए कई महत्वपूर्ण तत्व आपकी स्वयं की वेबसाइट पर प्रदर्शित होते हैं. आप हॉटलिंक आर्किटेक्चर (जिसे सिर्फ एक पल में प्राप्त कर सकते है) के बारे में बहुत कुछ समझ सकते हैं. लेकिन बाद में स्वीकार्य ऑन-साइट की तलाश में हॉटलिंक आर्किटेक्चर प्रभावी रूप से काम नहीं कर रहे हैं. तो वास्तविकता में आपके वेबसाइट के कैपिटल पेजेज को सामान्य रूप से होमपेज सहित पुरे ब्लॉग की वृद्धि की बात आती है तब आपको इसकी जरुरत पड़ती है. ज्यादा से ज्यादा आप निचे दिए गए स्टेप्स फॉलो करे.

  • organic search engine optimization के लिए जरुरी ओरिजिनल और उपयोगी पोस्ट ही लिखें.
  • सिर्फ अपनी वेबसाइट पर  Keyword ही न जोड़ें इसके बजाय बहुमूल्य जानकारी देने का प्रयास भी करें.
  • आपकी साइट की संरचना, यूआरएल संरचना बहुत मायने रखती है इसीलिए इसपर हमेश ध्यान दे.
  • आप आपकी साइट को तेजी से लोड करने की तरफ ध्यान दे.
  • साइट को Mobile Friendly होना चाहिए जिसे आप बहुत सारे टूल्स है जिससे आप यह कर सकते है.
  • आपकी साइट को हममंशा नियमित अपडेट करते रहना चाहिए.
  1. ऑन-साइट ऑप्टिमाइजेशन के गोल्डन रूल.

Search Engine Optimization शुरू करने से पहले आपको एक चक्कर में नहीं पढ़ना है की seo सिर्फ जानकर ही कर सकते है, जी नहीं आप भी कर सकते है. search engine optimization packages को ध्यान में रखकर आप खुद भी कर सकते है पर हा उनसे कम कर सकते है. आप कई Sarch engine को बढ़ावा देने के लिए अपने पृष्ठों को इकट्ठा करने की कोशिश कर सकते हैं.

लेकिन यह लक्ष्य नहीं है वास्तव में Google ने एक ओवर-ऑप्टिमाइजेशन संशोधन से मुकाबला किया है जो वेबसाइटों को लक्षित करता है जो कि खोजशब्दों को भी बहुत बड़ा मानते हैं. वे एक पृष्ठ को आत्मसात कर देते हैं. तो अगर यह search engine optimization की बात आती है तो इसे सरल बनाएं – आपकी वेबसाइट पर अन्निवेर्सरी  पृष्ठ के लिए 5 कीवर्ड या कीवर्ड वाक्यांशों की आशा करें और उन लोगों के लिए अनुकूलित करें जो आपकी वेबसाइट के कंटेंट को पढ़ते है, पढ़ना चाहते है.

यदि आप कीवर्ड का उपयोग करने का पालन नहीं कर रहे हैं, तो कुछ सुझाव या जानकारी प्राप्त करने के लिए Google के AdWords Keyword Tool पर प्रवेश करने का प्रयास करें. या यदि आप पूरी तरह से keyword research प्रक्रिया में शामिल होना चाहते हैं और इसे पाना चाहते हो तो इसे कुछ छोटी कीमत पर वार्षिक के सकते है. जो की आपको काम आते है कीवर्ड ऑप्टिमाइजेशन में आप इसमें के लिए KISSmetrics गाइड – भाग I और भाग II पढ़ सकते है.

  1. ऑफ़ पेज सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन

सोशल मिडिया लिंक हमेशा बनाएं और अपनी वेबसाइट को ज्यादा से ज्यादा सोशल मीडिया में बढ़ावा दें, Google में शीर्ष रैंकिंग पाने के लिए आपको नवीनतम एसईओ तकनीकों का पालन करना होगा इस एसईओ गाइड में मैं नवीनतम Search Engine Optimization प्रक्रिया को कवर करेगा जो कि आप Google में अपनी रैंकिंग में सुधार के लिए उपयोग कर सकते हैं।

  1. Keyword Research से प्रारंभ करें

Keyword Reserch Search Engine Optimization seo प्रक्रिया का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है. जब तक आप नहीं जानते कि लोग इंटरनेट पर क्या खोज रहे हैं और किस जानकारी की तलाश कर रहे हैं एसईओ करना लगभग असंभव है. जब आप एक Keyword Research करते हो तो आपको Original Keyword या Related Keyword के साथ शुरू करना होगा. आज  search engine अनुसंधान के लिए कई स्वतंत्र और सशुल्क टूल्स उपलब्ध हैं.

Top रैंकिंग के लिए Keyword Research युक्तियाँ

  • यहां कुछ चीजें हैं जिन्हें आपको एक Keyword Research करते समय ध्यान रखना आवश्यक है.
  • लंबी सोच और कम प्रतियोगिता से शुरू करें.
  • अधिक विचार प्राप्त करने के लिए Google सर्च इंजन का उपयोग करें और Google संबंधित खोज का उपयोग करें.
  • Keyword Research के लिए Paid Tools का उपयोग कर सकते हैं लेकिन यह तभी करे जब आप इसे afford करे..
  1. रैंकिंग पे ध्यान रखे और कंटेंट को हमेशा अपडेट करते रहे.

Search Engine Optimization एक बार की गतिविधि नहीं है. मतलब आपको अपने ब्लॉग को हमेशा अपडेट रखने की आवश्यकता होती है, नियमित आधार पर नई पोस्ट बनाते रहें. यदि आप रैंकिंग की निगरानी नहीं करते हैं और अपनी ब्लॉग पे पोस्ट को अपडेट नहीं करते हैं, तो आप अपनी रैंकिंग को आगे बनाये नहीं रख सकते जो आपके लिए या आपके ब्लॉग के लिए नुकसानदायक हो सकता है. मार्किट में कई SEO Tools उपलब्ध हैं जो आपको अपनी वेबसाइट की रैंकिंग पर नजर रखने में मदद करेंगे. उदाहरण के लिए आप Seoprofiler, SEMRush, Webceo जैसी वेबसाइट का इस्तेमाल कर रैंकिंग की निगरानी कर सकते है.

महत्वपूर्ण टिप्स – प्रिय ब्लोगर्स SEO हार्ड वर्क है और उसमे हमेशा Search Engine Optimization अभ्यास की आवश्यकता होती है. आपको अपनी वेबसाइट या आपके ग्राहक की वेबसाइट की रैंकिंग बनाए रखने के लिए अपने ज्ञान को हमेशा अपडेट रखने की आवश्यकता है.

अगर आपको हमारे ब्लॉग की SEO Kya Hai और Search Enginge Optimization Kaise Kare? यह जानकारी पसंद आयी हो तो इस पेज को सोशल मीडिया में अपने मित्रो के साथ जरुर शेयर करे. इस प्रकार की Blogging की नयी पोस्ट की जानकारी सीधे अपने इमेल इनबॉक्स में पाने के लिए हमारे ब्लॉग को Subscribe करना न भूले.

********************