GST Composition Scheme Kya Hai – Good Input Tax Composition Schemes Ki Jankari

प्रिय पाठक, स्वागत है आपका आज की पोस्ट GST Under Composition Scheme क्या होता है इस पोस्ट पर. आप तो जानते है होंगे कुछ समय पहले ही भारत सरकार ने दुसरे राज्यों की राज्य सरकारो के साथ मिलकर Good Service Tax लागु कर दिया गया है. Composition Scheme जी एस टी के अन्दर आने वाली आसान और सुरक्षित Scheme है जो Small Tax Payers को GST Formalities और उसके अन्दर आने वाली औपचारिकताओं से छुटकारा दिला सकता है.GST Composition Scheme Advantages & Disadvantages

इसका मतलब यह नही है की GST Tax भरना नही है कहने का मतलब है Turnover के हिसाब से एक Fix Tax अमाउंट का  आपको करना होता है. क्या आप जानते है Composition Scheme क्या होती है? क्या आप जानते है इस योजना को पाने के लिए क्या Conditions रखी गयी है? क्या आप जानते है इसके फायदे और नुकसान कौनसे है.

> Read – GST Bill से जरुरी सवालो के जवाब जो हर कोई जानना चाहता है- GST FAQs.

आज के इस GST Composition Scheme के आर्टिकल के माध्यम से आप ऊपर दिए गए सवालो का जवाब जान सकते है जो जानना भी आपके लिए फायदेमंद हो सकता है.

GST Composition Scheme क्या है.

GST India के अन्दर आते ही कुछ समय के लिए भारतीयो बाजारो मे काफी नाराजी छाई थी क्योकि बिना किसी जानकारी के कोई GST Scheme पर काम करना बेहद मुश्किल हो जाता है. GST Implementation होते- होते थोड़ी देर भी जरुर हुयी लेकिन इसका प्रावधान भारत मे भी कर ही दिया गया. इस आर्टिकल के माध्यम से आप Composition Scheme के बारे मे जानकारी पा सकते है जो कारोबारियों के लिए बेहद जरुरी है.

आसान शब्दों मे समजाया जाये तो Good Service Tax में जिन छोटे व्यवसाय करनेवाले का सालाना टर्नओवर 20 लाख रूपये (आसाम और उत्तर-पूर्वी राज्यों में 10 लाख रूपये तक है) तक के हैं उन्हें Good Sevice Tax देने और GST Registration लेने की आवश्यकता नहीं हैं. उसी प्रकार ऐसे छोटे और Medium Business करने वाले कारोबारी जिनका Academic Turnover 1 करोड़ रूपये (कुछ राज्यों में 75 लाख रूपये की समय सीमा रखी गयी) तक हैं उनके लिए जी एस टी को और भी ज्यादा आसान करने के लिए बनाई गयी कम्पोजीशन स्कीम हैं जिसके तहत कारोबारी एक निश्चित अवधि की Total Sell पर सीधा Fix Rate Tax दे सकेंगे और उन्हें पुरे वित्तीय वर्ष में केवल 5 रिटर्न भरने की आवश्यकता होगी.

जी एस टी कानून के अनुसार Composition Scheme छोटे व्यवसायों के लिए है. यह छोटे कारोबारियो को राहत देने के लिए ही बनाई गयी है ताकि भारतीय संविधान / कानून के तहत Good Service Tax से किसी भी कारोबारी पर इसका ज्यादा बोझ ना पढ़े. कोई भी अपने Good Service Tax Turnover का एक निश्चित प्रतिशत भुगतान करने का विकल्प इस योजना के तहत चुन सकता हैं और संविधान के प्रावधानों के अन्दर रहकर सभी GST Rules का पालन कर सकते हैं.

Composition Scheme के तहत आपको समय पर GST Return दाखिल करने की आवश्यकता होती है, और तिमाही आधार पर अपने GST Turnover के कुछ प्रतिशत पर Tax देना होगा. इसका मतलब यह है की Outward Supplies (Sales) करने पर आपको G S T Tax लगाने की अनुमति नहीं दी जाएगी. इसके बदले Quarterly Basis पर निश्चित प्रतिशत पर भुगतान करना होगा. ध्यान रहे Composition Scheme लेने पर आप आप अपने Inward Supplies (Purchases) पर Input Tax Credit दावा नही कर सकते.

Composition Scheme Conditions क्या है.

Composition Scheme का मतलब आप ऊपर के पॉइंट्स से जान गए होंगे की एक फिक्स टैक्स आप इस योजना के तहत इसका फायदा ले सकते है. लेकिन क्या आप जानते है इस योजना को लेने के लिए कौनसी कंडीशन रखी गयी है? अगर नही तो इस आर्टिकल को ध्यान से और पूरा पढ़िए आप जान जायेंगे इस योजना के बारे मे.

  1. Composition Scheme को के चुनने वाला व्यक्ति एक GST Registered व्यक्ति होना चाहिए.
  2. पिछले आर्थिक वित्तीय वर्ष में उस व्यक्ति का कुल कारोबार 50 लाख रुपये से ज्यादा नहीं होना चाहिए.
  3. आपका वार्षिक कारोबार 1 करोड़ रुपये से कम होना चाहिए ज्यादा नही होना चैहिये.
  4. आपूर्ति के अलावा अन्य सेवाओं की आपूर्ति में शामिल व्यक्ति, Supply Service में लगे व्यक्ति, Food Human Consumption में लगे इन व्यक्ति को छोड़कर निचे दिए गए Composition Scheme के लिए योग्य नही होगा.

> Read – GST Kya Hai- Good Service Tax Bill Kya Hai Puri Jankari HindiMePadhe.

  • Petroleum Crude.
  • Motor Spirit
  • Natural Gas
  • High Speed Diesel.
  • Aviation Turbine Fuel
  • Alcohol for Human Consumption
  • माल के किसी बाहर के राज्य मे Supply करने वाले व्यक्ति.
  • इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स ऑपरेटर द्वारा माल की आपूर्ति करने वाले व्यक्ति को धारा 52 के तहत स्रोत पर टैक्स जमा करना आवश्यक है.
  • ऐसे सामान के निर्माता हैं जिन्हें Government द्वारा सिफारिश की गई है.

Composition Scheme Advantages.

GST Law के Section 10 के तहत Gst Taxpayers को Composition Scheme Registration के संबंध में प्रावधान शामिल है. जैसा की हमने ऊपर भी बताया है की Composition Tax के मूलभूत सिद्धांत में छोटे करदाताओं के लिए Tax का बोझ कम करना है मुख्य कारन है. वर्तमान में करीब 7 मिलियन से भी ज्यादा Tax Payers अब नियमित टैक्स से GST Government में अपना रुख कर चुके होंगे.

अब भारतीय सरकार भी New GST Composition Scheme को लेकर आई है, जिसमें जिन करदाता का सालाना Turnover 1 करोड़ रुपये तक है या उससे कम है वह सामान्य करदाता के रूप में बिना GST Registration के अपने बिजिनेस को चलाने का चुनाव कर सकता है.

इसके विपरीत इसके बजाय वह Composition Scheme के तहत एक करदाता के रूप में पंजीकृत होने और Nominal Rate पर अपनी Tax का भुगतान करना चुन सकता है. हालांकि वह Tax Invoice जारी करने के योग्य नहीं होगा और इसके परिणामस्वरूप भुगतान किए गए Input Tax Credit Result का इस्तेमाल नहीं कर सकता है. इसप्रकार से और भी कुछ मुख्य फायदे है जो Composition Scheme के तहत निचे दिए गए पॉइंट्स के अनुसार फायदेमंद हो सकता है.

  • Limited Tax Liability

GST Law के अंतर्गत Composition Scheme Registration करने का एक फायदा यह है कि छोटे करदाता के लिए Tax Rate जीएसटी कानून के अंतर्गत सिर्फ नाममात्र है.

  • Limited Compliance & Focus Business.

दूसरा फायदा Composition Scheme को चुनाव करने पर हर G S T Taxpayer को केवल Quarterly Return भरने की आवश्यकता होती है और इस तरह उन्हें हर रिकॉर्ड रखने की चिंता करने की आवश्यकता नहीं है और Compliance Procedures में शामिल होने के बजाय अपने Business पर ध्यान केन्द्रित कर सकते है.

  • High Liquidity.

एक और तीसरा फायदा Composition Scheme Registration का यह है की व्यापार में एक High Fund Availability का होना भी है. एक Normal Taxpayer को Output Tax पर एक Standard Rate पर भुगतान करने की आवश्यकता होगी और Inpurt Credit Tax का फायदा तभी मिलेगा जब उनकी Supplier रिटर्न ऑनलाइन भेजते हैं जो आपके Own Return के साथ समानता करेगा.

इस प्रकार उनकी वर्किंग कैपिटल का एक बड़ा हिस्सा हमेशा इनपुट क्रेडिट के रूप में ब्लोक होगा. हालांकि Composition Scheme के तहत पंजीकृत एक सप्लायर के लिए Output Liability केवल नाममात्र होगी और उसे अपने Supplier द्वारा रिटर्न दाखिल करने के बारे में चिंता करने की आवश्यकता नहीं है.

GST Composition Scheme Registration Disadvantages.

  • Will Not Get The Benefit Of Input Tax.

GST Composition का चुनाव करने वाले कारोबारियों को Purchase किये गए माल पर चुकाए गए टैक्स का GST Input Credit का फायदा नही मिलेगा और GST Invoice में भी अलग से Tax नहीं दिखा सकते. इनपुट टैक्स (ITC) का फायदा ना मिलने से आपके Customer भी आपके द्वारा बेचे गए माल पर इनपुट क्रेडिट का लाभ नहीं ले सकते.

  • Pay Tax From Your Own Pocket.

अगर कोई डीलर Composition Scheme का चुनाव करता है तो उन्हें अपने खरीदार से Tax Charge करने की इजाजत नहीं होगी. इसीलिए दर बहुत कम होने के बावजूद उन्हें अपनी जेब से Tax Pay करना होगा. इसी के साथ साथ वह G.S.T. Invoice भी नही जारी कर सकते जिसके परिणामस्वरूप Tax Payment करने के लिए ज्यादा बोझ पड़ता है.

GST Composition Scheme Tax Rates.

Composition Scheme का चुनाव करने पर निचे दिए गए G S T Rate अनुसार आपको CGST और SGST Rate अनुसार Total GST फिक्स रेट चुकाना होगा.Composition Scheme Rates

  1. Manufacturers के लिए 2%,
  2. Composition Scheme में Traders (Good) के लिए 1%,
  3. Other Suppliers के लिए 5% की Fixed Rate के दर से Tax का भुगतान करना होगा.

> Read – GST Rates Finder Ka Istemal Kaise Kare.
> Read – GST Kya Hai- Good Service Tax Bill Kya Hai Puri Jankari.

इस प्रकार से आप GST Composition Scheme Kya Hai और इसके क्या फायदे है यह आप जान गए होंगे. आशा करते है आपको Good Service Tax Schemes की जानकारी का यह आर्टिकल पसंद आया होगा. इसीप्रकार की Trending Topic से जुडी जानकारी अपने ईमेल इनबॉक्स पर सबसे पहले पाने के लिए ब्लॉग को सब्सक्राइब करे.

हमें जीतनी जानकारी Composition Tax Scheme की थी उतनी हमने लिखने का प्रयास किया है. अगर आपके पास GST Composition Scheme से जुडी ज्यादा जानकारी है तो निचे कमेंट बॉक्स मे कमेंट करे हमें ख़ुशी होगी. Good Service Tax  की इस जानकारी से अब आप यह तो जान चुके होंगे की आपको इस योजना से जुड़ना चाहिए या नही. अब यह आप पर निर्भर करता है आप किस तरफ अपना झुकाव करते है.

******************

अमेजिंग ! धन्यवाद आपको यह पोस्ट पसंद आयी!

HindiMePadhe.com वेबसाइट को इतना प्यार देने के लिए आपका दिल से शुक्रिया. एसीही Blogging, Education, EPFO, Hindi Story और Banking सेक्टर से जुडी हर नयी पोस्ट के अपडेट आपके ईमेल इनबॉक्स मे पाने के लिए ब्लॉग को यहा से फ्री मे सब्सक्राइब करे.

Comments

  1. By Sohan Raj Goyal

    Reply

    • Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *